HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. शिलाजीत उम्र पर दिलाती है विजय, इन गंभीर बीमारियों के लिए है रामबाण

शिलाजीत उम्र पर दिलाती है विजय, इन गंभीर बीमारियों के लिए है रामबाण

शिलाजीत में फुलविक एसिड होता है जो शरीर को खनिजों और तत्वों को सोखने की शक्ति प्रदान करता है। आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत की उत्पत्ति शिला अर्थात पत्थर से हुई है। अगर कोई स्वस्थ मनुष्य शिलाजीत का सेवन करता है तो उसका शरीर हष्ट-पुष्ट बनता है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: भारत आयुर्वेद औषधियों का गढ़ गई। ऐसा माना जाता है आयुर्वेद में हर बीमारी के कई इलाज है। यहां तक कुछ जड़ी बूटियां ऐसी हैं जिनके चमत्कार को मॉडर्न मेडिकल साइंस भी नमस्कार करता है। शिलाजीत एक ऐसी ही औसधि है जिसके के फायदे हैं। शिलाजीत में 85 खनिज और तत्व होते है जो मानव शरीर को बेहतर बनाने के लिए जरुरी होते है।

पढ़ें :- Sweet Bitter Gourd: हार्ट प्रॉब्लम्स से लेकर कैंसर, चर्म रोग, आंखों के रोग तथा लिवर की समस्याओं में फायदेमंद होती है सब्जी

आपको बता दें, शिलाजीत में फुलविक एसिड होता है जो शरीर को खनिजों और तत्वों को सोखने की शक्ति प्रदान करता है। आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत की उत्पत्ति शिला अर्थात पत्थर से हुई है। अगर कोई स्वस्थ मनुष्य शिलाजीत का सेवन करता है तो उसका शरीर हष्ट-पुष्ट बनता है।

शिलाजीत कई रोगों में रामबाण 

  • शिलाजीत पुरानी कोशिकाओं की मरम्मत करते है तथा नई कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है। इससे उम्र कम नजर आती है। शरीर की कमजोरी भी दूर हो जाती है।
  • शिलाजीत मधुमेह से ग्रसित लोगों के लिए बेहद फायदेमंद औषधि है। एक चम्मच त्रिफला चूर्ण और एक चम्मच शहद को दो रत्ती शिलाजीत के साथ खाने से मधुमेह ठीक हो जाता है।

  • दूध के साथ शुबह शाम शिलाजीत को खाने से इंसान बीमार नहीं पड़ता है। रोज एक चम्मच मक्खन के साथ शिलाजीत का सेवन करने से दिमाग की क्षमता बढ़ती है।
  • स्वप्नदोष की समस्या दूर करने के लिए भी शिलाजीत का प्रयोग किया जाता है। शिलाजीत खाने से हड्डियों की मुख्य बीमारियां जैसे जोड़ों का दर्द और गठिया की समस्या दूर होने के साथ हड्डियां मजबूत बनती हैं।
  • जिन लोगों के शरीर में पित्त का प्रकोप होता है उन्हें शिलाजीत के सेवन से बचना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...