शिवसेना प्रमुख का अमर्यादित बयान, ‘योगी आदित्यनाथ को चप्पलों से पीटना चाहिए’

yogi uddhaw
योगी आदित्यनाथ-उद्धव ठाकरे

लखनऊ। केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) को आज चार साल पूरे हो चुके हैं। पार्टी कार्यकर्ता समेत मोदी सरकार की पूरी कैबिनेट सफलता के चार साल का जश्न मना रही है, वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बेहद आपत्तीजनक बयान देकर सियासी हलचल तेज कर दी है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि विरार में शिवाजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण के दौरान योगी ने अपना खड़ाऊं नहीं उतारा, योगी को चप्पलों से पीटना चाहिए।

बता दें कि सीएम याेगी शिवाजी महाराज की प्रतिमा के सामने जाने से पहले खड़ाऊं उतारना भूल गए थे। इस पर उद्धव ठाकरे से प्रतिक्रिया ली गई ताे उन्हाेंने कहा, “ईश्वर के प्रतिरूप शिवाजी महाराज की प्रतिमा के सामने जाने से पहले खड़ाऊं उतारना उनके प्रति सम्मान जाहिर करना है और यह एक सामान्य प्रक्रिया है। योगी ने ऐसा नहीं किया। उनसे और क्या अपेक्षा की जा सकती है? यह शिवाजी महाराज का अपमान है।”

{ यह भी पढ़ें:- चारबाग होटल अग्निकांड: मुख्यमंत्री करेंगे मृतकों के परिजनों की दो लाख की आर्थिक मदद }

वहीं जब शिवसेना प्रमुख से सवाल पूछा गया कि क्या उन्हें इस बात का अफसोस है कि पिछले 25 साल से भारतीय जनता पार्टी उनकी सहयोगी है? इस पर उद्धव ठाकरे ने कहा, “यह दुभाग्यपूर्ण है, कुछ चीजों को लेकर अफसोस है, क्योंकि भारतीय जनता पार्टी की नई पीढ़ी में हिंदुत्व के आदर्श नहीं दिखते।” उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद भाजपा अहंकारी हो गई है।

शिवसेना प्रमुख के मुताबिक, 28 मई को होने वाला पालघर लोकसभा उपचुनाव घमंड और वफादारी के बीच फैसला करेगा।

{ यह भी पढ़ें:- गाजियाबाद : भाजपा विधायक की गाड़ी पर बदमाशों ने बरसाई गोलियां }

लखनऊ। केंद्र में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) को आज चार साल पूरे हो चुके हैं। पार्टी कार्यकर्ता समेत मोदी सरकार की पूरी कैबिनेट सफलता के चार साल का जश्न मना रही है, वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बेहद आपत्तीजनक बयान देकर सियासी हलचल तेज कर दी है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि विरार में शिवाजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण के दौरान योगी ने अपना खड़ाऊं नहीं उतारा, योगी को चप्पलों से पीटना…
Loading...