शिवसेना सांसद संजय राउत बोले-वीर सावरकर महाराष्ट्र ही नहीं पूरे देश के देवता

Sanjay raut
शिवसेना सांसद संजय राउत बोले-वीर सावरकर महाराष्ट्र ही नहीं पूरे देश के देवता

नई दिल्ली। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी वीर सावरकर को लेकर लम्बे समय से जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस सेवादल की बुक​लेट ‘वीर सावरकर कितने वीर’ में किए गए दावे के बाद से यह विवाद और गहरा गया है। शनिवार को शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा है कि जो लोग वीर सावरकर का विरोध करते हैं उन्हें दो दिनों के लिए अंडमान जेल भेज दो, तब उन्हें समझ आएगा कि सावरकर कौन थे।

Shiv Sena Mp Sanjay Raut Said Veer Savarkar Is The Deity Of Not Only Maharashtra :

संजय राउत ने किसी का नाम लिए बगैर कहा है कि जो लोग वीर सावरकर का विरोध करते हैं, वे किसी भी विचारधारा या पार्टी से हों। उन्हें अंडमान सेलुलर जेल के सेल में सिर्फ दो दिन रहने दें, जहां सावरकर को बंधक बनाया गया था, तब उनके देश के लिए बलिदान और उनके योगदान का एहसास होगा।

बता दें कि कुछ दिन पहले ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि ‘मेरा नाम राहुल सावरकर’ नहीं है। इस पर संजय राउत ने कहा था कि सावरकर के प्रति श्रद्धा को लेकर कोई “समझौता” नहीं किया जा सकता। राउत ने कहा कि हम महात्मा गांधी और पंडित नेहरू का सम्मान करते हैं। कृपया वीर सावरकर का अपमान न करें।

अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से संजय राउत ने शनिवार को मराठी भाषा में ट्वीट किया था, जिसका मतलब था- ‘वीर सावरकर न केवल महाराष्ट्र बल्कि देश के भी देवता हैं। सावरकर नाम में राष्ट्र अभिमान और स्वाभिमान है। नेहरू और गांधी की तरह, सावरकर ने स्वतंत्रता के लिए अपना बलिदान दिया। ऐसे हर भगवान को सम्मानित किया जाना चाहिए। जय हिंद’

दरअसल, दिल्ली में आयोजित कांग्रेस की ‘भारत बचाओ रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि उनका नाम राहुल गांधी है, ‘राहुल सावरकर नहीं है और वह सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगेंगे। भाजपा ने गांधी से उनके “रेप इन इंडिया” बयान के लिए माफी मांगने की मांग की थी।

नई दिल्ली। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी वीर सावरकर को लेकर लम्बे समय से जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस सेवादल की बुक​लेट 'वीर सावरकर कितने वीर' में किए गए दावे के बाद से यह विवाद और गहरा गया है। शनिवार को शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा है कि जो लोग वीर सावरकर का विरोध करते हैं उन्हें दो दिनों के लिए अंडमान जेल भेज दो, तब उन्हें समझ आएगा कि सावरकर कौन थे। संजय राउत ने किसी का नाम लिए बगैर कहा है कि जो लोग वीर सावरकर का विरोध करते हैं, वे किसी भी विचारधारा या पार्टी से हों। उन्हें अंडमान सेलुलर जेल के सेल में सिर्फ दो दिन रहने दें, जहां सावरकर को बंधक बनाया गया था, तब उनके देश के लिए बलिदान और उनके योगदान का एहसास होगा। बता दें कि कुछ दिन पहले ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि 'मेरा नाम राहुल सावरकर' नहीं है। इस पर संजय राउत ने कहा था कि सावरकर के प्रति श्रद्धा को लेकर कोई “समझौता” नहीं किया जा सकता। राउत ने कहा कि हम महात्मा गांधी और पंडित नेहरू का सम्मान करते हैं। कृपया वीर सावरकर का अपमान न करें। अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से संजय राउत ने शनिवार को मराठी भाषा में ट्वीट किया था, जिसका मतलब था- 'वीर सावरकर न केवल महाराष्ट्र बल्कि देश के भी देवता हैं। सावरकर नाम में राष्ट्र अभिमान और स्वाभिमान है। नेहरू और गांधी की तरह, सावरकर ने स्वतंत्रता के लिए अपना बलिदान दिया। ऐसे हर भगवान को सम्मानित किया जाना चाहिए। जय हिंद' दरअसल, दिल्ली में आयोजित कांग्रेस की 'भारत बचाओ रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि उनका नाम राहुल गांधी है, 'राहुल सावरकर नहीं है और वह सच बोलने के लिए कभी माफी नहीं मांगेंगे। भाजपा ने गांधी से उनके “रेप इन इंडिया” बयान के लिए माफी मांगने की मांग की थी।