शिवसेना ने पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस पर साधा निशाना, पीएम मोदी की तारीफ कर बताया उद्धव का भाई

, Uddhav
शिवसेना ने पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस पर साधा निशाना, पीएम मोदी की तारीफ कर बताया उद्धव का भाई

मुंबई। महाराष्ट्र में नई सरकार का गठन हो गया है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री बन गए हैं। शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना के जरिए पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए उन्हें उद्धव ठाकरे का भाई बताया है। शिवसेना ने आरोप लगाया है कि पांच साल में राज्य पर पांच लाख करोड़ का कर्ज लादकर फडणवीस सरकार चली गई।

Shiv Sena Targeted Former Cm Devendra Fadnavis Praising Pm Modi And Said Uddhavs Brother :

लिहाजा नए सीएम ने जो सकंल्प लिया है, उस पर तेजी से लेकिन सावधानीपूर्वक कदम रखना होगा। सामना में लिखा गया कि हमारे पीएम ने स्पष्ट किया है कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में महाराष्ट्र का विकास तीव्र गति से होगा। इसके लिए केंद्र की नीति सहयोगवाली होनी चाहिए। महाराष्ट्र के किसानों को दुख की खाई से बाहर निकालने के लिए केंद्र को ही सहयोग का हाथ आगे बढ़ाना होगा।

इसके साथ ही शिवसेना ने सामना में लिखा है कि महाराष्ट्र की राजनीति में भाजपा-शिवसेना में अन-बन है लेकिन नरेंद्र मोदी और उद्धव ठाकरे का रिश्ता भाई-भाई का है। इसलिए महाराष्ट्र के छोटे भाई को प्रधानमंत्री के रूप में साथ देने की जिम्मेदारी श्री मोदी की है।

आगे लिखा गया कि प्रधानमंत्री पूरे देश के होते हैं, सिर्फ एक पार्टी के नहीं होते। इसे स्वीकार करें तो जो हमारे विचारों के नहीं हैं, उनके लिए सरकार अपने मन में राग-लोभ क्यों रखे? महाराष्ट्र की जनता ने जो निर्णय दिया है, दिल्ली उसका सम्मान करे और सरकार की स्थिरता न डगमगाए, इसका खयाल रखे।

मुंबई। महाराष्ट्र में नई सरकार का गठन हो गया है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री बन गए हैं। शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना के जरिए पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधा है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए उन्हें उद्धव ठाकरे का भाई बताया है। शिवसेना ने आरोप लगाया है कि पांच साल में राज्य पर पांच लाख करोड़ का कर्ज लादकर फडणवीस सरकार चली गई। लिहाजा नए सीएम ने जो सकंल्प लिया है, उस पर तेजी से लेकिन सावधानीपूर्वक कदम रखना होगा। सामना में लिखा गया कि हमारे पीएम ने स्पष्ट किया है कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में महाराष्ट्र का विकास तीव्र गति से होगा। इसके लिए केंद्र की नीति सहयोगवाली होनी चाहिए। महाराष्ट्र के किसानों को दुख की खाई से बाहर निकालने के लिए केंद्र को ही सहयोग का हाथ आगे बढ़ाना होगा। इसके साथ ही शिवसेना ने सामना में लिखा है कि महाराष्ट्र की राजनीति में भाजपा-शिवसेना में अन-बन है लेकिन नरेंद्र मोदी और उद्धव ठाकरे का रिश्ता भाई-भाई का है। इसलिए महाराष्ट्र के छोटे भाई को प्रधानमंत्री के रूप में साथ देने की जिम्मेदारी श्री मोदी की है। आगे लिखा गया कि प्रधानमंत्री पूरे देश के होते हैं, सिर्फ एक पार्टी के नहीं होते। इसे स्वीकार करें तो जो हमारे विचारों के नहीं हैं, उनके लिए सरकार अपने मन में राग-लोभ क्यों रखे? महाराष्ट्र की जनता ने जो निर्णय दिया है, दिल्ली उसका सम्मान करे और सरकार की स्थिरता न डगमगाए, इसका खयाल रखे।