अखिलेश यादव से हाथ मिलाने को तैयार शिवपाल, कहा-मुख्यमंत्री तो अखिलेश ही बनेंगे

akhilesh
अखिलेश यादव से हाथ मिलाने को तैयार शिवपाल, कहा-मुख्यमंत्री तो अखिलेश ही बनेंगे

इटावा। प्रगतिशील समाज पार्टी के चीफ शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भतीजे अखिलेश यादव से हाथ मिलाने को तैयार हैं। शिवपाल के बयान के बाद फिर से परिवार को एक होने के संकेत मिलने लगे हैं। इटावा में मीडिया से बातचीत करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी के जन्मदिन पर परिवार में एकता हो जाए तो अच्छा है। उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि परिवार में एकता हो। शिवपाल यादव ने कहा कि सपा और प्रसपा एक हो जाए तो यूपी में सरकार बना लेंगे।

Shivpal Ready To Join Hands With Akhilesh Yadav Said If You Understand Nephew The Government Will Be Formed :

उन्होंने कहा कि, भतीजा (अखिलेश यादव) समझ लेगा तो 2022 में सरकार बना लेंगे। उन्होंने कहा कि वे सीएम नहीं बनना चाहते हैं। उनकी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी हैं क्योकिं मैंने बहुत लंबे समय तक नेताजी के साथ काम किया है। हमारी विचारधारा भी समाजवादी है। बता दें कि, 22 नवंबर को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन है। शिवपाल यादव ने ऐलान किया कि वे इस दिन सैफई में एक बड़ा आयोजन कराएंगे।

शिवपाल के इस बयान के बाद सूबे के सियासी गलियारे में यादव परिवार के एक होने की सुगबुगाहट फिर तेज हो गई है। कहा जा रहा है कि 22 नवंबर को मुलायम के जन्मदिन के मौके पर चाचा और भतीजा एक साथ दिख सकते हैं। हालांकि इससे पहले भी चाचा—भतीजे के एक होने के संकेत मिले थे।

हालांकि बाद में शिवपाल ने कहा था कि वह अपनी पार्टी का समाजवादी पर्टी में विलय नहीं करेंगे। पार्टी सपा के साथ गठबंधन जरूर कर सकती है। एक बार फिर से शिवपाल ने एकसाथ आने के संकेत दिए हैं। देखना दिलचस्प होगा कि क्या अखिलेश चाचा शिवपाल को साथ लेते हैं या नहीं।

इटावा। प्रगतिशील समाज पार्टी के चीफ शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भतीजे अखिलेश यादव से हाथ मिलाने को तैयार हैं। शिवपाल के बयान के बाद फिर से परिवार को एक होने के संकेत मिलने लगे हैं। इटावा में मीडिया से बातचीत करते हुए शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी के जन्मदिन पर परिवार में एकता हो जाए तो अच्छा है। उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि परिवार में एकता हो। शिवपाल यादव ने कहा कि सपा और प्रसपा एक हो जाए तो यूपी में सरकार बना लेंगे। उन्होंने कहा कि, भतीजा (अखिलेश यादव) समझ लेगा तो 2022 में सरकार बना लेंगे। उन्होंने कहा कि वे सीएम नहीं बनना चाहते हैं। उनकी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी हैं क्योकिं मैंने बहुत लंबे समय तक नेताजी के साथ काम किया है। हमारी विचारधारा भी समाजवादी है। बता दें कि, 22 नवंबर को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन है। शिवपाल यादव ने ऐलान किया कि वे इस दिन सैफई में एक बड़ा आयोजन कराएंगे। शिवपाल के इस बयान के बाद सूबे के सियासी गलियारे में यादव परिवार के एक होने की सुगबुगाहट फिर तेज हो गई है। कहा जा रहा है कि 22 नवंबर को मुलायम के जन्मदिन के मौके पर चाचा और भतीजा एक साथ दिख सकते हैं। हालांकि इससे पहले भी चाचा—भतीजे के एक होने के संकेत मिले थे। हालांकि बाद में शिवपाल ने कहा था कि वह अपनी पार्टी का समाजवादी पर्टी में विलय नहीं करेंगे। पार्टी सपा के साथ गठबंधन जरूर कर सकती है। एक बार फिर से शिवपाल ने एकसाथ आने के संकेत दिए हैं। देखना दिलचस्प होगा कि क्या अखिलेश चाचा शिवपाल को साथ लेते हैं या नहीं।