शिवपाल का खुलासा, नई पार्टी बनाकर चुनाव लड़ने के मूड में थे अखिलेश

लखनऊ| समाजवादी पार्टी कुनबा बिखरने के कगार पर है और समाजवादी पार्टी के लिए आज का दिन सबसे बड़ा दिन है| समाजवादी कुनबे में सबसे बड़ी तकरार के बीच आज शिवपाल यादव ने सीधे-सीधे अखिलेश यादव पर ही आरोप लगाते हुए कहा कि मैं अपने बेटे और गंगाजल की कसम खाकर कहता हूं कि अखिलेश ने उनसे कहा था कि वह नई पार्टी बनाएंगे और दूसरे दल के साथ चुनाव लड़ेंगे|




शिवपाल ने कहा, “अखिलेश ने अलग पार्टी बनाकर दूसरे दल के साथ चुनाव लड़ने की बात कही है| मैं कसम खाकर कहता हूं कि अखिलेश ने यह बात कही थी|” उन्होंने अपने संबोधन में आगे कहा कि मैंने पार्टी को मजबूत करने के लिए काफी संघर्ष किया है| मैं गांव-गांव जाकर नेताजी की बात को पहुंचता था| क्या मेरे कार्यों का कोई महत्व नहीं है| क्या मैंने पार्टी को मजबूत करने के लिए मुख्यमंत्री से कम योगदान दिया| उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा नेताजी के आदेश को माना, यहां तक कि मुख्यमंत्री की भी हर बात को माना|




शिवपाल ने अखिलेश पर निशाना साधते हुए कहा कि मुझे अध्यक्ष पद से हटाकर अखिलेश अध्यक्ष बनाया गया था, उस वक्त मेरी क्या प्रतिक्रिया रही थी और आज जब मुझे अध्यक्ष बनाया गया तो मेरे साथ क्या हुआ यह सब जानते हैं| शिवपाल ने कहा कि अखिलेश की शह के कारण अफसर मेरी बात नहीं सुनते| पार्टी में धूर्त, गुंडों और दलालों की भरमार हो गयी है| उन्होंने कहा कि जो लोग अमर सिंह पर निशाना साध रहे हैं, वे उनके पैरों की धूल के बराबर भी नहीं हैं| उन्होंने कहा कि कुछ लोग मुख्तार अंसारी के नाम पर मुझे बदनाम करने की साजिश में जुटे हैं| उन्होंने कहा कि नेताजी ऐसे दलालों को पार्टी से बाहर करने की जरूरत है|

इस दौरान शिवपाल ने रामगोपाल यादव को भी निशाने पर लिया| उन्होंने कहा कि रामगोपाल जैसे लोग पार्टी में रहने लायक नहीं हैं, वे दलाली कर रहे हैं| वे समाजवादी पार्टी को तोड़ने का काम कर रहे हैं लेकिन उनकी दलाली नहीं चलेगी| शिवपाल ने कहा कि मैंने नेताजी के हर आदेश को माना है| मैंने सीएम के हर आदेश को माना है| अब समय आ गया है कि मुलायम सिंह नेतृत्‍व संभालें| मुलायम तय करें कि किसको सीएम बनाना है|




Loading...