3 साल से हर रोज नाराज कौओं के हमले झेल रहा है यह शख्‍स

man
3 साल से हर रोज नाराज कौओं के हमले झेल रहा है यह शख्‍स

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शिवपुरी (Shivpuri) जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। इस शख्स का दावा है कि जैसे ही वो घर से बाहर निकलते हैं, एक कौवा उन पर हमला कर देता है। दरअसल, शिवपुरी के सुमेला गांव के रहने वाले शिवा ने बताया कि जब वो अपने घर से निकलकर होटल में काम करने के लिए बदरवास की ओर जाते हैं, तभी सड़क पर एक कौवा उन पर हमला कर देता है।

Shivpuri Crows Have Been Harassing Shivpuri Shiva For Three Years :

तीन साल से है परेशान

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित व्यक्ति का नाम शिवा (Shiva) है। वह जिले के सुमेला गांव (Sumela Village) का निवासी है। उसे पिछले तीन साल से कौए परेशान कर रहे हैं। जब भी वह घर से बाहर निकलता है तो उसके सिर के ऊपर कौए मंडराने लगते हैं। उसे चोंच और पंजों से मारकर घायल कर देते हैं. कभी-कभी तो ये कौए शिवा के ऊपर झुंड में हमला कर देते हैं। शिवा की मानें तो उसके साथ हर रोज ऐसा होता है, चाहे वह जितनी बार भी घर से बाहर क्‍यों न निकले। ऐसे में वह जब भी बाहर निकलता है तो अपने साथ एक डंडा रखता है।

तीन साल पहले हुई थी ये घटना

शिवा की मुसीबतों की शुरुआत तीन साल पहले हुई थी जब उन्‍होंने लोहे की जाली में फंसे कौए के एक बच्‍चे को निकालने की कोशिश की थी। शिवा कहते हैं, ‘उसने मेरे हाथों में ही दम तोड़ दिया था। अगर मैं कौओं को समझा पाता तो मैं कहता कि मैं तो केवल उसकी मदद करना चाहता था। लेकिन वे समझते हैं कि मैंने ही उसे मारा है।’

दुश्‍मनी निभा रहे हैं कौवे

अब शिवा एक लकड़ी साथ लेकर चलते हैं और सिर पर मंडरा रहे कौओं को उससे डराकर भगाते हैं। शिवा के शरीर पर इस एकतरफा युद्ध के कई घाव हैं, इनमें से अधिकतर उनके सिर पर लगे हैं। शिवा इस बात से हैरान हैं कि कौए भी किसी से दुश्‍मनी रख सकते हैं और इंसानों के चेहरे याद रख सकते हैं।

शोधकर्ता भी पुष्टि करते हैं

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन के शोधकर्ताओं का कहना है कि कौओं की याददाश्‍त बहुत तेज होती है और वे उन इंसानों की शक्‍ल याद रखते हैं, जिन्‍होंने उन्‍हें सताया हो।

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शिवपुरी (Shivpuri) जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। इस शख्स का दावा है कि जैसे ही वो घर से बाहर निकलते हैं, एक कौवा उन पर हमला कर देता है। दरअसल, शिवपुरी के सुमेला गांव के रहने वाले शिवा ने बताया कि जब वो अपने घर से निकलकर होटल में काम करने के लिए बदरवास की ओर जाते हैं, तभी सड़क पर एक कौवा उन पर हमला कर देता है। तीन साल से है परेशान जानकारी के मुताबिक, पीड़ित व्यक्ति का नाम शिवा (Shiva) है। वह जिले के सुमेला गांव (Sumela Village) का निवासी है। उसे पिछले तीन साल से कौए परेशान कर रहे हैं। जब भी वह घर से बाहर निकलता है तो उसके सिर के ऊपर कौए मंडराने लगते हैं। उसे चोंच और पंजों से मारकर घायल कर देते हैं. कभी-कभी तो ये कौए शिवा के ऊपर झुंड में हमला कर देते हैं। शिवा की मानें तो उसके साथ हर रोज ऐसा होता है, चाहे वह जितनी बार भी घर से बाहर क्‍यों न निकले। ऐसे में वह जब भी बाहर निकलता है तो अपने साथ एक डंडा रखता है। तीन साल पहले हुई थी ये घटना शिवा की मुसीबतों की शुरुआत तीन साल पहले हुई थी जब उन्‍होंने लोहे की जाली में फंसे कौए के एक बच्‍चे को निकालने की कोशिश की थी। शिवा कहते हैं, 'उसने मेरे हाथों में ही दम तोड़ दिया था। अगर मैं कौओं को समझा पाता तो मैं कहता कि मैं तो केवल उसकी मदद करना चाहता था। लेकिन वे समझते हैं कि मैंने ही उसे मारा है।' दुश्‍मनी निभा रहे हैं कौवे अब शिवा एक लकड़ी साथ लेकर चलते हैं और सिर पर मंडरा रहे कौओं को उससे डराकर भगाते हैं। शिवा के शरीर पर इस एकतरफा युद्ध के कई घाव हैं, इनमें से अधिकतर उनके सिर पर लगे हैं। शिवा इस बात से हैरान हैं कि कौए भी किसी से दुश्‍मनी रख सकते हैं और इंसानों के चेहरे याद रख सकते हैं। शोधकर्ता भी पुष्टि करते हैं अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन के शोधकर्ताओं का कहना है कि कौओं की याददाश्‍त बहुत तेज होती है और वे उन इंसानों की शक्‍ल याद रखते हैं, जिन्‍होंने उन्‍हें सताया हो।