मध्यप्रदेश में ‘पद्मावती’ बैन, शिवराज बोले- राष्‍ट्रमाता के बारे में गलत नहीं देख सकते

padd

भोपाल। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर विवाद चरम पर है। अखबार, मीडिया, सोशल मीडिया चौतरफा इसी बात की चर्चा है। इन्हीं सब के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नया फरमान सुनाया है। बता दें, फिल्‍म की रिलीज डेट पहले ही टल गई है लेकिन इस फिल्‍म के साथ विवाद खत्‍म होने का नाम नहीं ले रहे हैं।

Shivraj Singh Chauhan Said That If Film Distorted Facts Against Padmavati Will Not Be Released In Madhya Pradesh :

उन्होंने सोमवार को प्रेस कांफ्रेस में कहा कि सोमवार को संवाददाताओं से कहा है कि अगर फिल्म में ‘राष्ट्रमाता’ पद्मावती के बारे में गलत दिखाया गया है तो राज्य में इसका प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा। शिवराज ने कहा, ‘ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ कर अगर राष्ट्रमाता पद्मावती जी के सम्मान के खिलाफ जिस फिल्म में दृश्य दिखाया गया है या बात कही गई है उस फिल्म का प्रदर्शन मध्य प्रदेश की धरती पर नहीं होगा।’

इससे पहले राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी थी। वसुंधरा राजे ने सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को चिट्ठी लिखकर आग्रह किया था कि पद्मावती फिल्म तब तक रिलीज न हो, जब तक इसमें जरूरी बदलाव नहीं कर दिए जाएं, ताकि किसी भी समुदाय की भावनाओं को ठेस न पहुंचे।

वहीं करणी सेना के विरोध प्रदर्शन के बीच हाल ही में सेंसर बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने भी फिल्म को लेकर आपत्ति जताई। सेंसर बोर्ड ने फिल्म ‘पद्मावती’ को देखने से फिलहाल इंकार कर दिया। तकनीकी कमियों का हवाला देते हुए बोर्ड ने फिल्म का एप्लिकेशन वापस भेज दिया।

भोपाल। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर विवाद चरम पर है। अखबार, मीडिया, सोशल मीडिया चौतरफा इसी बात की चर्चा है। इन्हीं सब के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नया फरमान सुनाया है। बता दें, फिल्‍म की रिलीज डेट पहले ही टल गई है लेकिन इस फिल्‍म के साथ विवाद खत्‍म होने का नाम नहीं ले रहे हैं।उन्होंने सोमवार को प्रेस कांफ्रेस में कहा कि सोमवार को संवाददाताओं से कहा है कि अगर फिल्म में ‘राष्ट्रमाता’ पद्मावती के बारे में गलत दिखाया गया है तो राज्य में इसका प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा। शिवराज ने कहा, ‘ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ कर अगर राष्ट्रमाता पद्मावती जी के सम्मान के खिलाफ जिस फिल्म में दृश्य दिखाया गया है या बात कही गई है उस फिल्म का प्रदर्शन मध्य प्रदेश की धरती पर नहीं होगा।’इससे पहले राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी थी। वसुंधरा राजे ने सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को चिट्ठी लिखकर आग्रह किया था कि पद्मावती फिल्म तब तक रिलीज न हो, जब तक इसमें जरूरी बदलाव नहीं कर दिए जाएं, ताकि किसी भी समुदाय की भावनाओं को ठेस न पहुंचे।वहीं करणी सेना के विरोध प्रदर्शन के बीच हाल ही में सेंसर बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने भी फिल्म को लेकर आपत्ति जताई। सेंसर बोर्ड ने फिल्म 'पद्मावती' को देखने से फिलहाल इंकार कर दिया। तकनीकी कमियों का हवाला देते हुए बोर्ड ने फिल्म का एप्लिकेशन वापस भेज दिया।