हेलिकॉप्टर न उतरने दिया तो बोले शिवराज, कहा- पिट्ठू कलेक्टर सुन लें, हमारे दिन भी जल्दी आएंगे

shivraj
हेलिकॉप्टर न उतरने दिया तो बोले शिवराज, कहा- पिट्ठू कलेक्टर सुन लें, हमारे दिन भी जल्दी आएंगे

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को छिंदवाड़ा के उमरेठ में हेलिकॉप्टर उतारने की अनुमति नहीं मिलने से राज्य की सियासत में गर्माहट आ गई है। नाराज शिवराज सिंह चौहान ने सख्त लहजे में कहा कि ये पिट्ठू कलेक्टर सुन ले देख हमारे दिन भी जल्दी आएंगे तब तेरा क्या होगा। आपको बता दें कि शिवराज सिंह चौहान चुनाव प्रचार के लिए मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में उमरेठ में जनसभा संबोधित करनी थी।

Shivraj Singh Chouhan Controversial Remark On Government Official Loksabha Chunav :

चौहान बुधवार को छिंदवाड़ा जिले के चौरई कस्बे में जनसभा को संबोधित करने गए थे, जहां से उनके हेलिकॉप्टर को जिला प्रशासन के निर्देश पर पांच बजे से पहले रवाना कर दिया गया। इस पर चौहान ने सड़क मार्ग का सहारा लिया।

जनसभा के दौरान चौहान ने प्रशासन पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के दवाब में काम करने का आरोप लगाते हुए धमकी दी थी, ‘बंगाल में ममता दीदी, वह नहीं उतरने दे रही थीं। ममता दीदी के बाद कमलनाथ दादा…यह आ गए। अरे भाई सत्ता के मद में ऐसे चूर मत हो। ये पिट्ठू कलेक्टर सुन ले रे, हमारे दिन भी आएंगे, तब तेरा क्या होगा।’

दरअसल विवादित बोल वाले नेताओं की कतार में शिवराज सिंह अकेले नहीं हैं। पार्टियों के झंडे का रंग कुछ भी हो, नेताओं की कद और काठी कुछ भी हो लेकिन जुबां हर एक नेता की करीब करीब एक जैसी है। चुनावी फसल काटने की जुगत में नेताओं को लगता है कि शायद जहरीले बयान ही उनकी या उनकी पार्टी का नैय्या पार लगा सकते हैं।

मिसाल के तौर पर कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में से एक सलमान खुर्शीद ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर विवादित टिप्पणी की। इसके साथ उन्होंने महागठबंधन के नेताओं पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जो उन पर वार करेगा वो चूर चूर हो जाएगा।

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को छिंदवाड़ा के उमरेठ में हेलिकॉप्टर उतारने की अनुमति नहीं मिलने से राज्य की सियासत में गर्माहट आ गई है। नाराज शिवराज सिंह चौहान ने सख्त लहजे में कहा कि ये पिट्ठू कलेक्टर सुन ले देख हमारे दिन भी जल्दी आएंगे तब तेरा क्या होगा। आपको बता दें कि शिवराज सिंह चौहान चुनाव प्रचार के लिए मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में उमरेठ में जनसभा संबोधित करनी थी। चौहान बुधवार को छिंदवाड़ा जिले के चौरई कस्बे में जनसभा को संबोधित करने गए थे, जहां से उनके हेलिकॉप्टर को जिला प्रशासन के निर्देश पर पांच बजे से पहले रवाना कर दिया गया। इस पर चौहान ने सड़क मार्ग का सहारा लिया। जनसभा के दौरान चौहान ने प्रशासन पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के दवाब में काम करने का आरोप लगाते हुए धमकी दी थी, 'बंगाल में ममता दीदी, वह नहीं उतरने दे रही थीं। ममता दीदी के बाद कमलनाथ दादा...यह आ गए। अरे भाई सत्ता के मद में ऐसे चूर मत हो। ये पिट्ठू कलेक्टर सुन ले रे, हमारे दिन भी आएंगे, तब तेरा क्या होगा।' दरअसल विवादित बोल वाले नेताओं की कतार में शिवराज सिंह अकेले नहीं हैं। पार्टियों के झंडे का रंग कुछ भी हो, नेताओं की कद और काठी कुछ भी हो लेकिन जुबां हर एक नेता की करीब करीब एक जैसी है। चुनावी फसल काटने की जुगत में नेताओं को लगता है कि शायद जहरीले बयान ही उनकी या उनकी पार्टी का नैय्या पार लगा सकते हैं। मिसाल के तौर पर कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में से एक सलमान खुर्शीद ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर विवादित टिप्पणी की। इसके साथ उन्होंने महागठबंधन के नेताओं पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जो उन पर वार करेगा वो चूर चूर हो जाएगा।