शिवराज के मंत्री का आरक्षण पर बड़ा बयान, कहा- 40% वाले को बैठाना देश के लिए घातक   

शिवराज के मंत्री का आरक्षण पर बड़ा बयान, कहा- 40% वाले को बैठाना देश के लिए घातक   
शिवराज के मंत्री का आरक्षण पर बड़ा बयान, कहा- 40% वाले को बैठाना देश के लिए घातक   

Shivraj Singh Chouhan Minister Gopal Bhargava Statement On Reservations

भोपाल। आरक्षण के मुद्दे पर देश में चल रही बहस के बीच मध्‍य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार में मंत्री गोपाल भार्गव ने रविवार को यहां परशुराम जयंती के मौके पर सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े कर दिए । ब्राह्मण समाज के सम्‍मेलन में पहुंच मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा है कि ‘यदि योग्यता को दरकिनार कर के अयोग्य लोगों का चयन किया जाएगा, यदि 90 फीसदी वाले को बैठा दिया जाएगा और 40 फीसदी वाले की नियुक्ति की जाएगी तो यह देश के लिए घातक है।’

भार्गव ने कहा कि यह ब्राम्हण का नहीं प्रतिभा का अपमान है। राज्य की शिवराज सिंह चौहान की कैबिनेट में मंत्री गोपाल ने कहा कि जब देश आजाद हुआ था तब एक चौथाई संसद-विधायक कर्मचारी अधिकारी हमारे वर्ग के थे अब मात्र 10 फीसदी हैं। अब इससे भी ज्यादा कम होते जा रहे हैं।

एमपी के कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इसका कारण यह है कि पहले नीति थी, अब अनीति है। उन्होंने राजनीतिक दलों पर भी निशाना साधते हुए कहा कि हर दल ब्राह्रमणों का समर्थन तो चाहती है पर उसे देना कुछ नहीं चाहती। इधर मंत्री गोपाल भार्गव के इस विवादित बयान पर हंगामा भी मच गया है। विपक्षी दलों ने गोपाल भार्गव को उनके बयान पर घेरना शुरू किया तो बाद में गोपाल ने कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है।

गोपाल भार्गव ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने तो आरक्षण शब्द का इस्तेमाल ही नहीं किया। आपको बता दें कि इस वक्त देश में आरक्षण के मुद्दे पर जबरदस्त बहस छिड़ी हुई है।

भोपाल। आरक्षण के मुद्दे पर देश में चल रही बहस के बीच मध्‍य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार में मंत्री गोपाल भार्गव ने रविवार को यहां परशुराम जयंती के मौके पर सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े कर दिए । ब्राह्मण समाज के सम्‍मेलन में पहुंच मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा है कि 'यदि योग्यता को दरकिनार कर के अयोग्य लोगों का चयन किया जाएगा, यदि 90 फीसदी वाले को बैठा दिया जाएगा और 40 फीसदी वाले की नियुक्ति…