शोएब अख्तर ने 4-डे टेस्ट मैच के प्रस्ताव को बताया बकवास, कहा- BCCI कभी नहीं देगा मंजूरी

akhtar
शोएब अख्तर ने 4-डे टेस्ट मैच के प्रस्ताव को बकवास बताया, कहा- BCCI कभी नहीं देगा मंजूरी

नई दिल्ली। विराट कोहली और रिकी पॉन्टिंग के बाद पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भी आईसीसी के 4-डे टेस्ट मैच के प्रस्ताव का विरोध किया है। अख्तर ने इस विचार को बकवास बताते हुए कहा, ‘‘ये एशियाई टीमों के खिलाफ एक साजिश है और बीसीसीआई इसे लागू नहीं होने देगा।  

Shoaib Akhtar Calls 4 Day Test Match Proposal Rubbish Says Bcci Will Never Approve :

सौरव गांगुली एक बुद्धिमान और समझदार व्यक्ति हैं। वे कभी भी टेस्ट क्रिकेट को नुकसान पहुंचते हुए नहीं देखना चाहेंगे। वे चाहेंगे कि ये इसी तरह चलता रहे और भारतीय टीम उसमें शिखर पर रहे।’’ अख्तर ने ये बातें रविवार को अपने यू-ट्यूब चैनल पर शेयर किए एक वीडियो में कहीं।

अख्तर ने कहा, ‘इन दिनों एशियाई टीमों के खिलाफ हर जगह एक साजिश रची जा रही है। मुझे लगता है कि ये भी (टेस्ट क्रिकेट को चार दिन का करना) पूरी तरह से एशियाई टीमों के खिलाफ है। मुझे लगता है कि ये विचार पूरी तरह से बकवास है और किसी को इसमें दिलचस्पी नहीं लेना चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘बीसीसीआई काफी शक्तिशाली है और उसकी अनुमति के बिना आईसीसी कभी भी इस बदलाव को लागू नहीं कर सकता। इसलिए बीसीसीआई का साथ देते हुए भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश के समझदार क्रिकेटर्स को इस प्रस्ताव का विरोध करना चाहिए।’

अख्तर ने सचिन का समर्थन किया

अख्तर ने सचिन तेंदुलकर का जिक्र करते हुए कहा, ‘सचिन ने बिल्कुल सही कहा है। उन्होंने बिल्कुल उसी जगह चोट मारी है, जहां पर खामी है। उन्होंने पूछा है कि अगर ये बदलाव होता है, तो फिर टेस्ट क्रिकेट में स्पिनर्स क्या करेंगे? क्योंकि हमारे यहां पर ही दानिश कनेरिया, मुश्ताक अहमद, रविचंद्रन अश्विन, हरभजन सिंह, अनिल कुंबले जैसे स्पिनर्स हैं, जिन्होंने 400-500 विकेट लिए हैं। उनका क्या होगा?’

आईसीसी ने रखा था प्रस्ताव

इससे पहले आईसीसी ने 30 दिसंबर को ये प्रस्ताव रखा था कि पांच दिन के टेस्ट को चार दिन का कर दिया जाए। इससे कैलेंडर ईयर में सीमित ओवरों के मैच के लिए ज्यादा समय मिलेगा। आईसीसी इसे 2023-31 के फ्यूचर टूर प्लान में शामिल करना चाहता है। जिसके बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली के अलावा सचिन तेंदुलकर, गौतम गंभीर, जस्टिन लेंगर, नाथन लियोन, ग्लेन मैक्ग्राथ और रिकी पॉन्टिंग जैसे पूर्व क्रिकेटर्स इस बदलाव को लेकर अपनी अस्वीकृति व्यक्त कर चुके हैं।

दूसरी ओर, सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिंग, ग्लेन मैक्ग्रा, गौतम गंभीर समेत कई दिग्गज इस विचार का विरोध कर रहे हैं। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस पर अपनी राय स्पष्ट नहीं की है। उन्होंने इससे जुड़े एक सवाल पर कहा कि अभी इस बारे में कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

नई दिल्ली। विराट कोहली और रिकी पॉन्टिंग के बाद पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भी आईसीसी के 4-डे टेस्ट मैच के प्रस्ताव का विरोध किया है। अख्तर ने इस विचार को बकवास बताते हुए कहा, ‘‘ये एशियाई टीमों के खिलाफ एक साजिश है और बीसीसीआई इसे लागू नहीं होने देगा।   सौरव गांगुली एक बुद्धिमान और समझदार व्यक्ति हैं। वे कभी भी टेस्ट क्रिकेट को नुकसान पहुंचते हुए नहीं देखना चाहेंगे। वे चाहेंगे कि ये इसी तरह चलता रहे और भारतीय टीम उसमें शिखर पर रहे।’’ अख्तर ने ये बातें रविवार को अपने यू-ट्यूब चैनल पर शेयर किए एक वीडियो में कहीं। अख्तर ने कहा, 'इन दिनों एशियाई टीमों के खिलाफ हर जगह एक साजिश रची जा रही है। मुझे लगता है कि ये भी (टेस्ट क्रिकेट को चार दिन का करना) पूरी तरह से एशियाई टीमों के खिलाफ है। मुझे लगता है कि ये विचार पूरी तरह से बकवास है और किसी को इसमें दिलचस्पी नहीं लेना चाहिए।' उन्होंने कहा, 'बीसीसीआई काफी शक्तिशाली है और उसकी अनुमति के बिना आईसीसी कभी भी इस बदलाव को लागू नहीं कर सकता। इसलिए बीसीसीआई का साथ देते हुए भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश के समझदार क्रिकेटर्स को इस प्रस्ताव का विरोध करना चाहिए।' अख्तर ने सचिन का समर्थन किया अख्तर ने सचिन तेंदुलकर का जिक्र करते हुए कहा, 'सचिन ने बिल्कुल सही कहा है। उन्होंने बिल्कुल उसी जगह चोट मारी है, जहां पर खामी है। उन्होंने पूछा है कि अगर ये बदलाव होता है, तो फिर टेस्ट क्रिकेट में स्पिनर्स क्या करेंगे? क्योंकि हमारे यहां पर ही दानिश कनेरिया, मुश्ताक अहमद, रविचंद्रन अश्विन, हरभजन सिंह, अनिल कुंबले जैसे स्पिनर्स हैं, जिन्होंने 400-500 विकेट लिए हैं। उनका क्या होगा?' आईसीसी ने रखा था प्रस्ताव इससे पहले आईसीसी ने 30 दिसंबर को ये प्रस्ताव रखा था कि पांच दिन के टेस्ट को चार दिन का कर दिया जाए। इससे कैलेंडर ईयर में सीमित ओवरों के मैच के लिए ज्यादा समय मिलेगा। आईसीसी इसे 2023-31 के फ्यूचर टूर प्लान में शामिल करना चाहता है। जिसके बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली के अलावा सचिन तेंदुलकर, गौतम गंभीर, जस्टिन लेंगर, नाथन लियोन, ग्लेन मैक्ग्राथ और रिकी पॉन्टिंग जैसे पूर्व क्रिकेटर्स इस बदलाव को लेकर अपनी अस्वीकृति व्यक्त कर चुके हैं। दूसरी ओर, सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिंग, ग्लेन मैक्ग्रा, गौतम गंभीर समेत कई दिग्गज इस विचार का विरोध कर रहे हैं। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस पर अपनी राय स्पष्ट नहीं की है। उन्होंने इससे जुड़े एक सवाल पर कहा कि अभी इस बारे में कुछ कहना जल्दबाजी होगी।