निशानेबाजी : जूनियर विश्व में चमके अनीश, जीता सोना

जूनियर विश्व , सोना
निशानेबाजी : जूनियर विश्व में चमके अनीश, जीता सोना

नई दिल्ली। भारत के उभरते स्टार निशानेबाज अनीश भानवाला ने सोमवार को यहां जारी अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ जूनियर विश्व कप में अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है। अनीश ने पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा का सोना अपने नाम किया है।

Shooting Junior Glittering In The World Win Gold :

सीनियर राष्ट्रीय चैम्पियन अनीश ने चीन के झिपेंग चेंग को 40 शॉट के फाइनल में 29-27 से मात दी। अनीश ने क्वालिफिकेशन दौर में 585 निशाने लगाए, जबकि झेंग ने 579 निशाने लगाए। फाइनल में अनीश ने झेंग से बेहतर प्रदर्शन किया और पहले पांच शॉट की सीरीज में चार अच्छे निशाने लगाए।

हरियाणा के इस किशोर निशानेबाज ने दूसरी सीरीज में 9-8 की बढ़त बनाई और खिताब जीतने के समय झेंग से दो शॉट की दूरी बनाए रखी थी। अनीश ने इसके साथ अनहद जवानहांडा और आदर्श सिंह के साथ टीम बनाकर रजत पदक जीता। उनकी टीम ने 1714 का स्कोर बनाया। इस स्पर्धा में चीन की टीम को स्वर्ण पदक हासिल हुआ।

अनहद और एक अन्य भारतीय निशानेबाज राजकंवर सिह संधु ने भी व्यक्तिगत रूप से फाइनल में प्रवेश किया। इसमें अनहद ने चौथा और संधु ने छठा स्थान हासिल किया। जूनियर विश्व कप की पदक तालिका में भारत दूसरे स्थान पर है। उसने छह स्वर्ण, तीन रजत और छह कांस्य पदक जीते हैं।

इस सूची में चीन सात स्वर्ण, चार रजत और छह कांस्य पदकों के साथ पहले स्थान पर है।

नई दिल्ली। भारत के उभरते स्टार निशानेबाज अनीश भानवाला ने सोमवार को यहां जारी अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ जूनियर विश्व कप में अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है। अनीश ने पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा का सोना अपने नाम किया है।सीनियर राष्ट्रीय चैम्पियन अनीश ने चीन के झिपेंग चेंग को 40 शॉट के फाइनल में 29-27 से मात दी। अनीश ने क्वालिफिकेशन दौर में 585 निशाने लगाए, जबकि झेंग ने 579 निशाने लगाए। फाइनल में अनीश ने झेंग से बेहतर प्रदर्शन किया और पहले पांच शॉट की सीरीज में चार अच्छे निशाने लगाए।हरियाणा के इस किशोर निशानेबाज ने दूसरी सीरीज में 9-8 की बढ़त बनाई और खिताब जीतने के समय झेंग से दो शॉट की दूरी बनाए रखी थी। अनीश ने इसके साथ अनहद जवानहांडा और आदर्श सिंह के साथ टीम बनाकर रजत पदक जीता। उनकी टीम ने 1714 का स्कोर बनाया। इस स्पर्धा में चीन की टीम को स्वर्ण पदक हासिल हुआ।अनहद और एक अन्य भारतीय निशानेबाज राजकंवर सिह संधु ने भी व्यक्तिगत रूप से फाइनल में प्रवेश किया। इसमें अनहद ने चौथा और संधु ने छठा स्थान हासिल किया। जूनियर विश्व कप की पदक तालिका में भारत दूसरे स्थान पर है। उसने छह स्वर्ण, तीन रजत और छह कांस्य पदक जीते हैं।इस सूची में चीन सात स्वर्ण, चार रजत और छह कांस्य पदकों के साथ पहले स्थान पर है।