1. हिन्दी समाचार
  2. UP के संभल में दिन दहाड़े शूटआउट, सपा नेता व उसके बेटे की मौत, देखें लाईव वीडियो

UP के संभल में दिन दहाड़े शूटआउट, सपा नेता व उसके बेटे की मौत, देखें लाईव वीडियो

Shootout In Broad Daylight In Up Sp Leader And His Son Died Watch Live Video

संभल। उत्तर प्रदेश के संभल जिले में चंदौसी से समाजवादी पार्टी के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी छोटेलाल दिवाकर व उनके बेटे की मंगलवार सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई। सुबह सवेरे छोटेलाल बेटे के साथ खेत में घूमने के लिए गए थे। इसी दौरान गांव के ही दबंगो से उनकी कहासुनी हुई और फिर गोली मारकर दोनों की हत्या कर दी गयी। घटना को अंजाम देने के बाद दबंग मौके से फरार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही एसपी मौके पर पहुंचे। एसपी के पहुंचते ही ग्रामीणों ने उनका घेराव कर लिया।

समाजवादी पार्टी के नेता छोटे लाल दिवाकर की पत्नी गांव की प्रधान हैं। ऐसे में उनका भी ज्यादातर काम छोटेलाल दिवाकर ही देखते थे। छोटे लाल दिवाकर मंगलवार की सुबह अपने बेटे सुनील दिवाकर के साथ गांव की आबादी के बाहर मनरेगा से बन रही सड़क का जायजा लेने गए थे। आरोप है कि इसी दौरान गांव के ही कुछ दबंग वहां पहुंच गए और आगे अपने खेत होने का हवाला देते हुए सड़क निर्माण का काम आगे न बढ़ाने की हिदायत दी। जब छोटे लाल दिवाकर ने ऐसा करने से इंकार कर दिया तब दबंगों ने छोटे लाल दिवाकर की गोली मारकर हत्या कर दी।

पढ़ें :- विश्व के सबसे बड़े पर्यटन क्षेत्र के रूप में उभर रहा है केवड़िया: PM मोदी

बेटे सुनील ने जान बचाकर भागने का प्रयास किया, लेकिन हत्यारों ने उसे भी गिराकर मौत के घाट उतार दिया। छोटे लाल दिवाकर को समाजवादी पार्टी ने बीते विधानसभा चुनाव में चंदौसी विधानसभा क्षेत्र से अपना प्रत्याशी बनाया था। हालांकि बाद में यह सीट गठबंधन खाते में कांग्रेस के पास चली गई थी और छोटेलाल चुनाव नहीं लड़ पाए थे। छोटेलाल इस समय चंदौसी विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी प्रभारी के रूप में काम कर रहे थे।

इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि घटना की जांच-पड़ताल की जा रही है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा लिख लिया है। जरूरी कानूनी कार्रवाई की जा रही है.। उन्होंने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। बताया जा रहा है कि पंचायत चुनाव नजदीक हैं और मृतक छोटेलाल दिवाकर मौजूदा ग्राम प्रधान पति होने के कारण गांव में अपनी प्रतिष्ठा के चलते दलित समाज के साथ अन्य बिरादरी में भी अपनी पकड़ रखते थे। इसी वजह से वारदात को अंजाम देने की आशंका है।

पढ़ें :- सीएम योगी ने झांसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव का किया वर्चुअल शुभारम्भ, कहा-बुन्देलखण्ड में मिलेगी ...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...