शूटआउट@ गोरखपुर: रंगदारी न देने पर कमिश्नर हाउस के सामने दर्जनों राउंड चल गोली

shotuot at gorakhpur
शूटआउट@ गोरखपुर: रंगदारी न देने पर कमिश्नर हाउस के सामने दर्जनों राउंड चल गोली

गोरखपुर। गोरखपुर में कमिश्नर हाउस के सामने बुधवार देर रात जमकर गोलियां चली। जिसमें एक अस्पताल संचालक समेत पांच लोग गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। इस गोलीबारी की सूचना जैसे ही पुलिस को लगी तो वो मौके पर पहुंची और सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने चार की हालत नाजुक बताई है। फिलहाल पीड़ित ने जिले एक शातिर बदमाश समेत 6 लोगों के खिलाफ तहरीर दी, पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

Shotuot In Front Of Commisner House In Gorakhpur 5 Injured :

बताया जा रहा है कि कैंट थाना क्षेत्र स्थित बेतियाहाता निवासी शिवप्रताप सिंह का पुत्र रमन सिंह पल्स क्लीनिक का केयरटेकर है। उसके मुताबिक बुधवार सुबह उसके मोबाइल पर फोन आया। कॉलकर्ता ने खुद को सूरज सिंह बताते हुए कहा कि खूब पैसे कमा रहे हो थोड़ा हमे भी दो। इस पर रमन ने फोन काट दिया। रात करीब साढ़े नौ बजे दोबारा फोन आया और रंगदारी न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी गई। जिसपर रमन की उससे कहासुनी हो गई।

रात करीब तकरीबन 10 बजे रमन सिंह अपने साथ अलहदादपुर निवासी संदीप चौहान,रमेश उर्फ गुड्डू, रुस्तमपुर निवासी शुभम सिंह और बेतियाहाता श्रीप्रकाश सिंह के साथ मंडलायुक्त आवास के सामने से गुजर रहा था। इसी बीच बेतियाहाता हनुमान मंदिर की तरफ से बुलेट, पल्सर तथा एक अन्य बाइक से आधा दर्जन युवक पहुंचे। रमन तथा उसके साथियों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। गोली लगने से रमन सिंह और उसके चारो साथी घायल हो गए।

फिलहाल डाक्टरों ने प्राथमिक इलाज के बाद रमन सिंह को छोड़ कर अन्य चारों को मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। घटना की सूचना पाकर पहुंचे एसएसपी शलभ माथुर, एसपी सिटी विनय सिंह, सीओ कैंट प्रभात राय ने रमन सिंह बात की। रमन सिंह ने सूरज और उसके तीन अन्य साथियों का नाम पुलिस को बताया। फिलहाल पुलिस आरोपितों को दबोचने का प्रयास कर रही है।

गोरखपुर। गोरखपुर में कमिश्नर हाउस के सामने बुधवार देर रात जमकर गोलियां चली। जिसमें एक अस्पताल संचालक समेत पांच लोग गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। इस गोलीबारी की सूचना जैसे ही पुलिस को लगी तो वो मौके पर पहुंची और सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने चार की हालत नाजुक बताई है। फिलहाल पीड़ित ने जिले एक शातिर बदमाश समेत 6 लोगों के खिलाफ तहरीर दी, पुलिस उनकी तलाश कर रही है। बताया जा रहा है कि कैंट थाना क्षेत्र स्थित बेतियाहाता निवासी शिवप्रताप सिंह का पुत्र रमन सिंह पल्स क्लीनिक का केयरटेकर है। उसके मुताबिक बुधवार सुबह उसके मोबाइल पर फोन आया। कॉलकर्ता ने खुद को सूरज सिंह बताते हुए कहा कि खूब पैसे कमा रहे हो थोड़ा हमे भी दो। इस पर रमन ने फोन काट दिया। रात करीब साढ़े नौ बजे दोबारा फोन आया और रंगदारी न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी गई। जिसपर रमन की उससे कहासुनी हो गई। रात करीब तकरीबन 10 बजे रमन सिंह अपने साथ अलहदादपुर निवासी संदीप चौहान,रमेश उर्फ गुड्डू, रुस्तमपुर निवासी शुभम सिंह और बेतियाहाता श्रीप्रकाश सिंह के साथ मंडलायुक्त आवास के सामने से गुजर रहा था। इसी बीच बेतियाहाता हनुमान मंदिर की तरफ से बुलेट, पल्सर तथा एक अन्य बाइक से आधा दर्जन युवक पहुंचे। रमन तथा उसके साथियों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। गोली लगने से रमन सिंह और उसके चारो साथी घायल हो गए। फिलहाल डाक्टरों ने प्राथमिक इलाज के बाद रमन सिंह को छोड़ कर अन्य चारों को मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। घटना की सूचना पाकर पहुंचे एसएसपी शलभ माथुर, एसपी सिटी विनय सिंह, सीओ कैंट प्रभात राय ने रमन सिंह बात की। रमन सिंह ने सूरज और उसके तीन अन्य साथियों का नाम पुलिस को बताया। फिलहाल पुलिस आरोपितों को दबोचने का प्रयास कर रही है।