श्रीलंका ने भारत के सामने रखा 217 रनों लक्ष्य

श्रीलंका ने भारत के सामने रखा 217 रनों लक्ष्य

पांच वनडे मुकाबलों की सीरीज के पहले मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंकाई टीम ने भारत के सामने जीत के लिए 217 रनों का लक्ष्य रखा है। श्रीलंका की पारी शुरू करने उतरे बल्लेबाज निरोशन और दानुषका की सलामी जोड़ी ने भारतीय गेंदबाजों के धैर्य की परीक्षा जरूर ली लेकिन 27वें ओवर के बाद शुरू हुए विकटों के गिरने के सिलसिले को रोक नहीं पाए। परिणाम स्वरूप श्रीलंकाई पारी 43.2 ओवर खेलकर 216 कुल योग पर सिमट गई।

श्रीलंका की पारी की बात की जाए तो एक सधी शुरूआत के बाद टीम का पहला विकेट 14वें ओवर की आखिरी बॉल पर दानुषका के रूप में गिरा उस समय टीम का कुल योग 74 था। दनुषका भारतीय फिरकी गेंदवाज यजुवेन्द्र चहल की गेंद पर केएल राहुल को अपना कैच थमा बैठे। 35 रन बनकार आउट हुए दनुषका के बाद कुशल मेंडिस ने निरोशन के साथ श्रीलंकाई पारी को आगे बढ़ाया। दोनों बल्लेबाजों के बीच 62 रनों की साझेदारी हुई लेकिन 25वें ओवर में गेंदबाजी करने आए केदार जाधव ने निरोशन को पगबाधा आउट कर श्रीलंकाई टीम को 139 के योग पर दूसरा झटका दिया। इस झटके के बाद भारतीय गेंदबाजों ने पूरे मुकाबले पर अपनी पकड़ बना ली। इसके बाद कुशाल मेंडिस(36), एंग्लो मैथ्यूज नाबाद(36) और उपल थारंगा (13) को छोड़कर श्रीलंकाई टीम का कोई भी बल्लेबाज दहाई के अंक में रन नहीं जोड़ पाया।

{ यह भी पढ़ें:- ओखी चक्रवात की मुंबई में दस्तक, स्कूल कॉलेज बंद }

वहीं भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन की बात की जाए तो अक्षर पटेल 10 ओवरों में 34 रन देकर तीन विकेट चटकार सबसे सफल साबित हुए, जबकि जसप्रीत बुमराह, यजुवेन्द्र चहल और केदार जाधव को दो—दो सफलताएं ही मिली। इस मुकाबले में हार्दिक पाड्या और भुवनेश्वर कुमार के खाते में एक भी सफलता नहीं आई।

दांबुला में खेले जा रहे इस मुकाबले में भी श्रीलंकाई टीम पूरी तरह से दबाव में नजर आई। शुरूआती ओवरों में श्रीलंकाई टीम में जो विश्वास नजर आया वह सपोर्टस को उत्साहित करने वाला था, लेकिन टीम का मध्यक्रम उस लय को कायम रखने में नाकाम रहा। जिस वजह से टीम छह ओवर और चार गेंद शेष रहते ही सिमट गई।

{ यह भी पढ़ें:- नागपुर टेस्ट में टीम इंडिया ने श्रीलंका को पारी और 239 रनों से हराया }

 

Loading...