सिब्बल ने पीएम मोदी को सामने आकर नेतृत्व करने की दी सलाह

Kapil sibbal
राज्यसभा में बोले कपिल सिब्बल: हिन्दुस्तान का कोई मुसलमान आपसे नहीं डरता

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के तहत देशभर में जारी लॉकडाउन से गरीब व मजदूर वर्ग को होने वाली परेशानियों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फ्रंट से लीड करते हुए मीडिया को संबोधित करना चाहिए, उनके सवालों का जवाब देना चाहिए। इस विपदा की घड़ी में उनकी सरकार कृषि, स्वास्थ्य, व्यापार एवं बेरोजगार के मुद्दे पर क्या अहम निर्णय कर रही है इस पर सबको जानकारी देनी चाहिए।

Sibal Advised Pm Modi To Come Forward And Lead :

कांग्रेस नेता ने सोमवार को ट्वीट कर प्रधानमंत्री को सामने आकर नेतृत्व करने की सलाह दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मोदीजी, मीडिया को संबोधित करें, सवालों के जवाब दें। बोलते समय कोई नकाब नहीं होना चाहिए। यह परिवर्तन का समय है। कृषि, स्वास्थ्य, बेरोजगारी आदि विषयों पर स्पष्टीकरण दें। सभी आपको सुनना चाहते हैं।’

सिब्बल ने ट्वीट में सीएमआईई (भारतीय अर्थव्यवस्था के आंकड़ों की निगरानी वाला केंद्र) का एक आंकड़ा भी पेश किया, जिसमें महामारी से पूर्व बेरोजगारी 6-8 प्रतिशत थी, जो अब 23 फीसदी तक पहुंच गई है। उन्होंने प्रधानमंत्री से सवाल किया कि आखिर कैसे बेरोजगारी का आंकड़ा दो माह के भीतर ही 23 फीसदी तक बढ़ गया। उन्होंने पूछा कि क्या इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा बिना सोचे-समझे लिया गया लॉकडाउन का फैसला जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी कि स्थिति यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में 20 फीसदी लोगों के पास कोई काम नहीं है। जबकि शहरी क्षेत्रों में 31 प्रतिशत लोग रोजगार के लिए जूझ रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि बीते रविवार को भी कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री मोदी पर लॉकडाउन बढ़ाए जाने को लेकर तंज कसते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री जी राजनीति एक रियलिटी शो है, सिर्फ लाइट एंड साउंड शो नहीं है।

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के तहत देशभर में जारी लॉकडाउन से गरीब व मजदूर वर्ग को होने वाली परेशानियों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फ्रंट से लीड करते हुए मीडिया को संबोधित करना चाहिए, उनके सवालों का जवाब देना चाहिए। इस विपदा की घड़ी में उनकी सरकार कृषि, स्वास्थ्य, व्यापार एवं बेरोजगार के मुद्दे पर क्या अहम निर्णय कर रही है इस पर सबको जानकारी देनी चाहिए। कांग्रेस नेता ने सोमवार को ट्वीट कर प्रधानमंत्री को सामने आकर नेतृत्व करने की सलाह दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मोदीजी, मीडिया को संबोधित करें, सवालों के जवाब दें। बोलते समय कोई नकाब नहीं होना चाहिए। यह परिवर्तन का समय है। कृषि, स्वास्थ्य, बेरोजगारी आदि विषयों पर स्पष्टीकरण दें। सभी आपको सुनना चाहते हैं।’ सिब्बल ने ट्वीट में सीएमआईई (भारतीय अर्थव्यवस्था के आंकड़ों की निगरानी वाला केंद्र) का एक आंकड़ा भी पेश किया, जिसमें महामारी से पूर्व बेरोजगारी 6-8 प्रतिशत थी, जो अब 23 फीसदी तक पहुंच गई है। उन्होंने प्रधानमंत्री से सवाल किया कि आखिर कैसे बेरोजगारी का आंकड़ा दो माह के भीतर ही 23 फीसदी तक बढ़ गया। उन्होंने पूछा कि क्या इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा बिना सोचे-समझे लिया गया लॉकडाउन का फैसला जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी कि स्थिति यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में 20 फीसदी लोगों के पास कोई काम नहीं है। जबकि शहरी क्षेत्रों में 31 प्रतिशत लोग रोजगार के लिए जूझ रहे हैं। उल्लेखनीय है कि बीते रविवार को भी कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री मोदी पर लॉकडाउन बढ़ाए जाने को लेकर तंज कसते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री जी राजनीति एक रियलिटी शो है, सिर्फ लाइट एंड साउंड शो नहीं है।