फिर बिगड़े मोदी के मंत्री के बोल, बोले- अब सिद्धारमैया मनाएंगे ‘कसाब जयंती’

neta

नई दिल्ली। अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले मोदी सरकार के मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने एक बार फिर ऐसा ही बयान दिया है। इस बार हेगड़े ने कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया पर निशाना साधते हुए कहा, ‘वह दिन दूर नहीं जब वह (कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया) कसाब की जयंती मनाने लगें।’

Siddaramaiah Celebrated Tipu Jayanti It Is A Matter Of Time Before He Starts Making You Celebrate Kasab Jayanti :

बेलगावी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए हेगड़े ने कहा सिद्धारमैया किट्टूर रानी चिन्नम्मा फेस्टिवल नहीं मनाते हैं, लेकिन वह टीपू सुल्तान की जयंती मनाने में लगे हैं। बता दें कि आतंकी अजमल कसाब 2008 के मुंबई हमलों को दोषी था। जिसे 2012 में फांसी के फंदे पर लटका दिया गया था। प्रदेश में कांग्रेस के नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होने कहा कि कर्नाटक अपराधियों के लिए आसान पनाहगार बन गई है।

आपको बता दें, सत्तारूढ़ कांग्रेस ने साल 2015 में 10 नवम्बर को टीपू जयंती के रूप में मनाने का फैसला किया था, जिसके बाद दक्षिणपंथी संगठनों ने मैसूर और राज्य में अन्य जगहों पर हिंसक प्रदर्शन किए थे। कांग्रेस सरकार के इस फैसले के बाद भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने टीपू सुल्तान को ‘क्रूर हत्यारा, कट्टरपंथी और सामूहिक दुष्कर्मी’ बताया था।

टीपू को बताया था हत्यारा
इससे पहले केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने कर्नाटक के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर टीपू सुल्तान को हिंदू विरोधी और बर्बर हत्यारा बताया था। पत्र में उन्होंने राज्य में आयोजित टीपू जयंती से जुड़े कार्यक्रमों में निमंत्रित न करने को कहा था। इतना ही नहीं, अनंत हेगड़े ने कहा था कि वह राज्य में टीपू जयंती मनाए जाने की निंदा करते हैं, क्योंकि टीपू हिंदू विरोधी था. उसने मैसूर और कुर्ग में हजारों की बर्बर तरीके से हत्या करवा दी थी.

नई दिल्ली। अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले मोदी सरकार के मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने एक बार फिर ऐसा ही बयान दिया है। इस बार हेगड़े ने कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया पर निशाना साधते हुए कहा, 'वह दिन दूर नहीं जब वह (कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया) कसाब की जयंती मनाने लगें।'बेलगावी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए हेगड़े ने कहा सिद्धारमैया किट्टूर रानी चिन्नम्मा फेस्टिवल नहीं मनाते हैं, लेकिन वह टीपू सुल्तान की जयंती मनाने में लगे हैं। बता दें कि आतंकी अजमल कसाब 2008 के मुंबई हमलों को दोषी था। जिसे 2012 में फांसी के फंदे पर लटका दिया गया था। प्रदेश में कांग्रेस के नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होने कहा कि कर्नाटक अपराधियों के लिए आसान पनाहगार बन गई है।आपको बता दें, सत्तारूढ़ कांग्रेस ने साल 2015 में 10 नवम्बर को टीपू जयंती के रूप में मनाने का फैसला किया था, जिसके बाद दक्षिणपंथी संगठनों ने मैसूर और राज्य में अन्य जगहों पर हिंसक प्रदर्शन किए थे। कांग्रेस सरकार के इस फैसले के बाद भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने टीपू सुल्तान को 'क्रूर हत्यारा, कट्टरपंथी और सामूहिक दुष्कर्मी' बताया था।टीपू को बताया था हत्यारा इससे पहले केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने कर्नाटक के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर टीपू सुल्तान को हिंदू विरोधी और बर्बर हत्यारा बताया था। पत्र में उन्होंने राज्य में आयोजित टीपू जयंती से जुड़े कार्यक्रमों में निमंत्रित न करने को कहा था। इतना ही नहीं, अनंत हेगड़े ने कहा था कि वह राज्य में टीपू जयंती मनाए जाने की निंदा करते हैं, क्योंकि टीपू हिंदू विरोधी था. उसने मैसूर और कुर्ग में हजारों की बर्बर तरीके से हत्या करवा दी थी.