1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. कैप्टन की गुगली के आगे सिद्धू हुए बोल्ड, नहीं मार पाए सेंचुरी

कैप्टन की गुगली के आगे सिद्धू हुए बोल्ड, नहीं मार पाए सेंचुरी

पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Punjab Congress Committee President Navjot Singh Sidhu) ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वह पंजाब कांग्रेस कमेटी (Punjab Congress Committee) के अध्यक्ष पद की कुर्सी पर केवल 63 दिन ही टिक पाए। बता दें कि कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress party interim president Sonia Gandhi) ने बीते 18 जुलाई को नवजोत सिंह सिद्धू को तत्काल प्रभाव से पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया था। ऐसे में कैप्टन की गुगली के आगे नवजोत सिंह सिद्धू आखिरकार बोल्ड हो गए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Punjab Congress Committee President Navjot Singh Sidhu) ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वह पंजाब कांग्रेस कमेटी (Punjab Congress Committee) के अध्यक्ष पद की कुर्सी पर केवल 63 दिन ही टिक पाए। बता दें कि कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress party interim president Sonia Gandhi) ने बीते 18 जुलाई को नवजोत सिंह सिद्धू को तत्काल प्रभाव से पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया था। ऐसे में कैप्टन की गुगली के आगे नवजोत सिंह सिद्धू आखिरकार बोल्ड हो गए हैं।

पढ़ें :- Punjab Breaking: नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर बढ़ाई पार्टी हाईकामन की टेंशन, सोनिया गांधी को पत्र लिखकर उठाए ये मुद्दे

बता दें कि बीते कुछ महीनों से पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh) से उनकी तकरार चल रही थी। जिसके बाद में कैप्टन ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कांग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का सीएम बनाया। इसके बादा माना जा रहा था कि पंजाब  कांग्रेस (Punjab Congress) ने सब कुछ ठीक कर लिया है। हालांकि, अब सिद्धू ने इस्तीफा देकर सभी को चौंका दिया है।

बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh)  के इस्तीफे के बाद नवजोत सिंह सिद्धू खुद सीएम बनना चाहते थे, लेकिन पार्टी ने कुछ और ही फैसला किया। पार्टी के इस फैसले को सिद्धू ने उस समय तो स्वीकार कर लिया। हालांकि, अब इस्तीफे के बाद इसकी पुष्टि होती दिख रही है कि सिद्धू सीएम नहीं बनाए जाने के अपनी पार्टी के फैसले से नाराज चल रहे थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...