US में पुलिस सिख अधिकारी के अंतिम संस्कार में उमड़े हजारों लोग, दी गई 21 बंदूकों की सलामी

sandeep
US में पुलिस सिख अधिकारी के अंतिम संस्कार में उमड़े हजारों लोग, दी गई 21 बंदूकों की सलामी

नई दिल्ली। अमेरिका के ह्यूस्टन में पिछले हफ्ते ड्यूटी के दौरान मारे गए पुलिस अधिकारी संदीप सिंह धालीवाल के अंतिम संस्कार में हजारों की तादाद में लोग शामिल हुए। ट्रैफिक सिग्नल पर एक हमले में मारे गए भारतीय-अमेरिकी सिख पुलिस अधिकारी का 2 अक्टूबर यानी बुधवार को अंतिम संस्कार किया गया। संदीप धालीवाल का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान और सिख रिति रिवाज के साथ किया गया. इस दौरान उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई।    

Sikh Police Officer Sandeep Singh Dhaliwal Funeral Houston Last Rite :

10 हजार सिखों की आबादी वाले हैरी काउंटी में धालीवाल (42) पहले भारतीय सिख डिप्टी थे। वह टेक्सास के एकमात्र ऐसे अधिकारी थे, जो अपनी पगड़ी और दाढ़ी के साथ ड्यूटी करते थे। सिंह बीते 10 साल से पुलिस विभाग में काम कर रहे थे। धालीवाल ने अमेरिका में दस साल पहले सिख डिप्टी के रूप में फोर्स ज्वॉइन की थी। वह पहले ऐसे सिख बने जिन्हें विभाग ने पेट्रोलिंग के दौरान धार्मिक पोशाक पहनने और दाढ़ी बढ़ाने की अनुमति दी थी।  
वीडियो में देखिए संदीप सिंह धालीवाल को श्रद्धांजलि देते हज़ारों लोग…

पत्नी ने सीने से लगाया अमेरिकी ध्वज

शेरिफ एड गोंजालेज ने धालीवाल के ताबूत पर लपेटे गए अमेरिकी ध्वज को उनकी पत्नी को सौंपा, जिन्होंने उसे अपने सीने से लगा लिया। बैरी सेंटर में पुलिस महकमे की स्मारक सेवा के बाद धालीवाल का परिवार और एचसीएसओ के सदस्यों ने विनफोर्ड फ्यूनरल होम में उनका अंतिम संस्कार किया। समुदाय के अन्य लोगों एवं संस्कार में शामिल होने आए बाकी लोगों को लंगर के लिए 7500 नॉर्थ सैम पार्कवे वेस्ट के गुरुद्वारा सिख नेशनल सेंटर आमंत्रित किया गया।  

भारत ने जताया दुख

गौरतलब है कि धालीवाल की मौत पर भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत कई दिग्गजों ने शोक व्यक्त किया था। अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा था कि संदीप सिंह धालीवाल की निर्मम हत्या से बहुत दुख हुआ। वह गर्व से सिख समुदाय का प्रतिनिधित्व करते थे और अमेरिका के पहले पगड़ीधारी पुलिस अफसर थे।

नई दिल्ली। अमेरिका के ह्यूस्टन में पिछले हफ्ते ड्यूटी के दौरान मारे गए पुलिस अधिकारी संदीप सिंह धालीवाल के अंतिम संस्कार में हजारों की तादाद में लोग शामिल हुए। ट्रैफिक सिग्नल पर एक हमले में मारे गए भारतीय-अमेरिकी सिख पुलिस अधिकारी का 2 अक्टूबर यानी बुधवार को अंतिम संस्कार किया गया। संदीप धालीवाल का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान और सिख रिति रिवाज के साथ किया गया. इस दौरान उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई।     10 हजार सिखों की आबादी वाले हैरी काउंटी में धालीवाल (42) पहले भारतीय सिख डिप्टी थे। वह टेक्सास के एकमात्र ऐसे अधिकारी थे, जो अपनी पगड़ी और दाढ़ी के साथ ड्यूटी करते थे। सिंह बीते 10 साल से पुलिस विभाग में काम कर रहे थे। धालीवाल ने अमेरिका में दस साल पहले सिख डिप्टी के रूप में फोर्स ज्वॉइन की थी। वह पहले ऐसे सिख बने जिन्हें विभाग ने पेट्रोलिंग के दौरान धार्मिक पोशाक पहनने और दाढ़ी बढ़ाने की अनुमति दी थी।   वीडियो में देखिए संदीप सिंह धालीवाल को श्रद्धांजलि देते हज़ारों लोग... पत्नी ने सीने से लगाया अमेरिकी ध्वज शेरिफ एड गोंजालेज ने धालीवाल के ताबूत पर लपेटे गए अमेरिकी ध्वज को उनकी पत्नी को सौंपा, जिन्होंने उसे अपने सीने से लगा लिया। बैरी सेंटर में पुलिस महकमे की स्मारक सेवा के बाद धालीवाल का परिवार और एचसीएसओ के सदस्यों ने विनफोर्ड फ्यूनरल होम में उनका अंतिम संस्कार किया। समुदाय के अन्य लोगों एवं संस्कार में शामिल होने आए बाकी लोगों को लंगर के लिए 7500 नॉर्थ सैम पार्कवे वेस्ट के गुरुद्वारा सिख नेशनल सेंटर आमंत्रित किया गया।   भारत ने जताया दुख गौरतलब है कि धालीवाल की मौत पर भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत कई दिग्गजों ने शोक व्यक्त किया था। अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा था कि संदीप सिंह धालीवाल की निर्मम हत्या से बहुत दुख हुआ। वह गर्व से सिख समुदाय का प्रतिनिधित्व करते थे और अमेरिका के पहले पगड़ीधारी पुलिस अफसर थे।