पेट की गड़बड़ को दूर कर सकते हैं ये आसान से टिप्स

त्योहारों का सीजन आ गया है. इस सीजन में बनेगें स्वादिष्ट पकवान और आएगा उन पकवानों को खाने का मजा. लेकिन एक तरफ तो पकवानों को खाने का मजा आएगा वहीं दूसरी और बढ़ जाएगी उन लोगों की मुसीबत जिनको होती है स्टमक ब्लोटिंग. हम लेकर आए हैं ऐसे लोगों के लिए कुछ टिप्स जिसे पढ़कर आप बच सकते हैं स्टमक ब्लोटिंग से.

कैसे होती है स्टमक ब्लोटिंग-
स्टमक ब्लोटिंग का कारण है वह खाना, खाना जो आपके स्वास्थ के लिए ठीक नहीं है उदाहरण के तौर पर ज्यादा जंक फूड. इसके अलावा यदि आप ऐसा कुछ खाना खाते हैं जिसमें बेकिंग सोडा का इस्तेमाल ज्यादा किया गया हो तो स्टमक ब्लोटिंग होती है. कई बार देखा गया है कि यदि आप अच्छा खाना खाते हैं तब भी स्टमक ब्लोटिंग हो सकती है.

{ यह भी पढ़ें:- सावधान: पोर्न फिल्म देखने से महिलाएं हो सकती है अंधी }

क्या होती है स्टमक ब्लोटिंग-
स्टमक ब्लोटिंग में पेट के अंदर और बाहर दोनों तरफ सूजन आने लग जाती है. इसके अलावा गैस की समस्या भी हो सकती है.

ज्यादा तली हुई चीजें नहीं खाएं-
अपने खाने में तरल पदार्थों का इस्तेमाल कम से कम करें. इससे आपके पेट में गैस बन सकती है और आपके पेट में स्टमक ब्लोटिंग हो सकती है.

खाना धीरे-धीरे खाएं-
खाने की बाइट्स को निगलने से पहले अच्छे से चबाएं. यह टिप आपके खाने को आसानी से पचाएगा और आपको स्टमक ब्लोटिंग से बचाएगा.

{ यह भी पढ़ें:- पुरुष ऐसे रखें अपनी त्वचा का ख्याल, नहीं रहेंगे पिंपल्स, ऑयली स्किन से भी मिलेगा छुटकारा }

नियमित रुप से व्यायाम करें-
नियमित रुप से व्यायाम करने से आप स्टमक ब्लोटिंग से बच सकते है. इसके लिए आप खाना खाने के बाद 15 मिनट जरूर घूमें.

खाने में नमक की मात्रा कम लें-
खाने में नमक का इस्तेमाल कम करने से स्टमक ब्लोटिंग को रोकने में मदद मिल सकती है क्योंकि नमक की वजह से भी पेट में गैस बनती है.

सॉफ्ट ड्रिंक्स का इस्तेमाल न करें-
सॉफ्ट ड्रिंक्स और एनर्जी ड्रिंक्स का सेवन ना करें. इसकी वजह से भी पेट में गैस बन सकती है और आपका पेट खराब हो सकता है.

ज्यादा फाइबर युक्त खाना नहीं खाएं-
यदि आप ज्यादा फाइबर युक्त खाना पंसद खाते हैं तो इस आदत को बदल लें क्योंकि ज्यादा फाइबर युक्त खाना खाने से भी स्टमक ब्लोटिंग का खतरा बढ़ सकता है.

{ यह भी पढ़ें:- गुणों की खान हैं अश्वगंधा, सफेद मूसली, शतावरी, गोखरू }

डेयरी के पदार्थों का सेवन ज्यादा नहीं करें-
डेयरी के दूध,पनीर,बटर इत्यादि का इस्तेमाल ज्यादा नहीं करें. इससे भी स्टमक ब्लोटिंग की समस्या बढ़ सकती है.