खुद की करेंसी चलता था गुरमीत राम-रहीम, सर्च ऑपरेशन में ये चीजें बरामद

सिरसा। बलात्कार के आरोपी डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम-रहीम सिंह के सिरसा स्थित आश्रम में सर्च ऑपरेशन जारी है। पंजाब हाईकोर्ट ने डेरा मुख्यालय में तलाशी का आदेश दिया था। सर्च ऑपरेशन के मद्देनजर हिंसा होने की संभावना को देखते हुए पेरामिलिट्री फोर्स व आर्मी के चार दस्ते लगाए गए हैं। इसी के साथ बम निरोधक दस्ता भी मौके पर मौजूद है। सिरसा के आसपास कर्फ्यू लगा दिया गया है। सर्च ऑपरेशन के दौरान कौन-कौन सी चीज़ें बरामद  हुई हैं, हम आपको बताने जा रहे हैं-

संदिग्ध स्थानों की खुदाई-

हरियाणा पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों ने सर्च ऑपरेशन के तहत ऐसी तैयारी की है कि यदि जमीन के भीतर कुछ विस्फोटक अथवा नरकंकाल छिपाए गए होंगे तो उन्हें भी खोजा जा रहा है। इसके लिए विशेष प्रशिक्षित स्टाफ व बम निरोधक दस्ते से जुड़े उपकरण मंगवाए गए हैं। बम निरोधक दस्ते में कई दर्जन विशेषज्ञ शामिल हैं। जेसीबी मशीनों से संदिग्ध स्थानों पर खुदाई की जा रही है। सर्च टीमें डेरे के अंदर एमएसजी फैशन मार्ट की तलाशी ले रही हैं। एक टीम राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत की रेडीमेड गारमेंट्स फैक्टरी की भी तलाशी ले रही है।

खुद की करेंसी चलता था गुरमीत-

{ यह भी पढ़ें:- शुगर का इलाज कराने 'कंबल बाबा' के पास पहुंचे छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री, फोटो वायरल }

डेरे के पास खुद की प्‍लास्टिक करेंसी भी मिली है। सर्च अभियान के दौरान डेरा सच्‍चा सौदा के पास काफी संख्‍या में प्‍लास्टिक मुद्रा बरामद की गयी है। बताया जा रहा है कि डेरा अपनी अलग से करेंसी चलाता था। डेरा अनुयायी डेरेे के अंदर इसी का इस्‍तेमाल करते थे। करेंसी मिलने से प्रशासन ने इसकी जांच पड़ताल शुरू दी है।

इंटरनेट सेवा 10 सितंबर तक बंद-

सिरसा में राज्‍य सरकार ने इंटरनेट सेवा, डेटा सेवा और एसएमएस सेवा बंद कर दी है। ये सेवाएं 10 सितंबर तक बंद रहेंगी। बताया जा रहा है डेरे के अंदर एडम ब्लॉक के समीप बने डेरा कंट्रोल रूम को सील किया गया है। मैडम ब्लॉक व डेरे का पूरा कंट्रोल इस कंट्रोल रूम से हाेता था। बताया गया है यहां तीन कमरे हैं जिन्हें सील किया गया है।

बता दें कि तलाशी शुरू होने से पहले डेरा के मुखपत्र में लिखा गया कि 70 एकड़ के परिसर में कंकाल मिल सकते हैं। वजह का जिक्र करते हुए लिखा गया कि बाबा समर्थकों से कहते थे कि शवों को जलाने की जगह उनको दे दिया जाए। फिर राम रहीम उनको आश्रम में दफना देते थे ताकि प्रदूषण ना हो।

{ यह भी पढ़ें:- देख ले फर्जी बाबाओं की लिस्ट, ये सभी सिर्फ पाखंडी और ढ़ोगी हैं }