1. हिन्दी समाचार
  2. बहन के प्यार ने टोडी सीमा की दीवार, खोली गई भारत और नेपाल की सरहद

बहन के प्यार ने टोडी सीमा की दीवार, खोली गई भारत और नेपाल की सरहद

Sisters Love Opens Todi Border Wall Borders Of India And Nepal

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: कोरोना के चलते आज कई जगह के अवगम बंद है लेकिन आगर बात सीमा पार जाने की हो तो बड़ी बात है। लेकिन राखी एक ऐसा त्योहार है जो सिर्फ प्यार और स्नेह का त्योहार है इसके आगे बड़े बड़े झुक जाते है।

पढ़ें :- अब बलरामपुर में हाथरस जैसी हैवानियत, दलित छात्रा से गैंगरेप, कमर और पैर तोड़े, पीड़िता की मौत

आपको बता दें, भारत नेपाल के प्रचलित रोटी-बेटी का संबंध सोमवार को उस वक्त सही साबित होते हुए दिखा जब रक्षाबंधन के मौके पर रूपई डीहा सीमा के दोनों तरफ मौजूद सैकड़ों बहनों की सीमा पार दूसरे देश में मौजूद अपने भाइयों को राखी बांधने की जिद के आगे उन्हें झुकना पड़ा।

इतना ही नहीं, बहन-भाइयों के प्यार के सामने कोरोना वायरस, हाई अलर्ट, दोनों सरकारों के बीच तल्ख हो चले रिश्ते और लॉकडाउन की सभी बंदिशें फीकी पड़ गईं। और दोनों देशों को हर कर सीमा को खोलना पड़ा।

ये था पूरा मजरा

सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की 42वीं वाहिनी के कमांडेंट प्रवीन कुमार ने मंगलवार को बताया कि कोविड-19 महामारी और अयोध्या में मंदिर शिलान्यास के मद्देनजर सीमा पर कड़ी चौकसी के बावजूद सोमवार को रक्षाबंधन पर सुबह से ही भारत-नेपाल की रूपई डीहा सीमा पर दोनों तरफ बहनें हाथों में राखी, मिठाई, रोली, अक्षत और पूजा की थाल लिए भाइयों को राखी बांधने के लिए एकत्र होने लगी थीं। दूसरी तरफ भाई भी बहनों का पलकें बिछाए इंतजार कर रहे थे.

पढ़ें :- लखनऊ के लिए एक और बुरी खबर, पूरे देश का बन गया सबसे प्रदूषित शहर

उन्होंने बताया कि इनमें से कुछ भाई-बहन लखनऊ, देवरिया, गोंडा, बलरामपुर और श्रावस्ती जिलों से रूपईडीहा सीमा पर पहुंचे थे। काफी जद्दोजहद के बाद नेपाली अधिकारियों से सम्पर्क कर उन्हें बंद सीमा को कुछ देर खोलने के लिए राजी किया गया।

कुमार ने बताया कि दोनों देशों के अधिकारियों के बीच इस बात पर सहमति बनी कि मास्क लगाकर और शारीरिक दूरी बरकरार रखते हुए तथा सैनेटाइजर का प्रयोग करने की शर्त पर सिर्फ बहनों के लिए कुछ घंटों के लिए आवागमन की इजाजत दी जाए। इसके बाद सीमा खोल दी गयी। नेपाल से आई बहनों ने भारतीय कस्बे रूपईडीहा में और भारत से नेपाल गयी बहनों ने नेपाली शहर नेपालगंज में भाइयों को राखी बांधकर अपना त्योहार मनाया।

कमांडेंट ने बताया कि सोमवार दोपहर 12 बजे से शाम पांच बजे तक के लिए अनुमति दी गयी थी। इस दौरान करीब 700 बहनों ने भारत से नेपाल जाकर और करीब 400 बहनों ने नेपाल से भारत आकर अपने भाइयों को राखी बांधी।सोमवार शाम पांच बजे सीमा पहले की तरह बंद कर दी गई।

पढ़ें :- यूपी में आठ सीएमओ के तबादले, डॉ. संजय भटनागर बने लखनऊ के नए सीएमओ

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...