1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. मुलायम से माया राज तक के 1000 करोड़ के घोटाले की होगी जांच, SIT को जिम्मेदारी!

मुलायम से माया राज तक के 1000 करोड़ के घोटाले की होगी जांच, SIT को जिम्मेदारी!

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अब मुलायम से लेकर मायावती शासनकाल के दौरान लोक निर्माण विभाग (पीडब्लूडी) में हुए एक हजार करोड़ से ज्यादा के घोटाले की जांच कराने का फैसला लिया है। इस घोटाले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। इस मामले में शासन की तरफ से आदेश मिलने के बाद एसआईटी ने पीडब्ल्यूडी के प्रमुख सचिव से घोटाले से संबंधित दस्तावेजों की मांग कर दी है। इस जांच की शुरुआत साल 2004 से शुरू होकर 2013 के बीच पूर्वांचल के 13 जिलों में शुरू की गई 137 योजनाओं के बारे में हैं।

13 जिलों की 137 परियोजनाएं अब एसआईटी जांच के घेरे में हैं। इनमें वाराणसी, भदोही, सोनभद्र, चंदौली, गाजीपुर, मऊ, बलिया, जौनपुर, मिर्जापुर, आजमगढ़, प्रतापगढ़, प्रयागराज और श्रावस्ती शामिल हैं। आरोप है कि काम के एवज में अधिक भुगतान किया गया, जबकि समय पर काम भी पूरा नहीं किया गया। सूत्रों के मुताबिक, वाराणसी और इलाहाबाद अंचल में 5 से 150 करोड़ तक घोटाला हुआ है।

वहीं इस मामले की विभागीय जांच हुई थी लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला और इस जांच को फाइलों में दफन कर दिया गया। अब योगी सरकार ने इस घोटाले की जांच कराने का फैसला लिया है। इसके लिए एसआईटी का गठन किया गया है। एसआईटी अब पिछले दस साल के माया और मुलायम के शासन काल के दौरान शुरू हुई इन परियोजनाओं की जांच कराने का निर्देश दिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...