सपा सरकार द्वारा आतंकियों से केस हटाने की कुचेष्टा देशद्रोह : योगी

cm yogi aditynath
भ्रष्टाचार के आरोप में यूपी को-ऑपरेटिव बैंक के एमडी निलंबित, सहायक प्रबंधकों की नियुक्तियां भी रद्द

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि पूर्ववर्ती सपा सरकार द्वारा आतंकवादियों के मुकदमे वापस लेने की कुचेष्टा देशद्रोह है। सरकार से इस फैसले से राष्ट्रीय सुरक्षा खतरे में पड़ गई है। उन्होने कहा सपा नेता बात ता दलितों और वंचितों की करते हैं, लेकिन पैरवी आतंकियों की करते थे।

Sm Yogi Adityanath Attack No Samajwadi Party After Walkout :

सीएम योगी ने कहा कि अगर कोर्ट उस मामले में हस्तक्षेप नहीं करता तो ये आतंकवादी आज छूटकर देश और प्रदेश को दहला चुके होते। कोर्ट ने सारे मामले का संज्ञान लेकर इन आतंकवादियों को उम्रकैद की सजा सुनाई। मुख्यमंत्री विधानसभा में बुधवार को अनुपूरक बजट पर चर्चा का जवाब दे रहे थे। मुख्यमंत्री के जवाब के साथ ही अनुपूरक बजट और उससे संबंधित विनियोग विधेयक विपक्ष की गैरमौजूदगी में सर्वसम्मति से पारित हो गया।

सीएम ने इस दौरान उन्होंने सपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। साथ ही विपक्षी बसपा को सपा से सचेत रहने की सलाह भी दी। उन्होंने कहा कि विपक्षियों के कारनामे जनता के सामने न आने पाएं, इसीलिए वे बहाना बनाकर बहस से भाग रहे और वाकआउट कर गए। योगी ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर खुलकर चर्चा चाहती है। साथ ही यह भी चाहती है कि सकारात्मक सोच से वे प्रदेश के विकास और प्रगति में भागीदार बनें।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि पूर्ववर्ती सपा सरकार द्वारा आतंकवादियों के मुकदमे वापस लेने की कुचेष्टा देशद्रोह है। सरकार से इस फैसले से राष्ट्रीय सुरक्षा खतरे में पड़ गई है। उन्होने कहा सपा नेता बात ता दलितों और वंचितों की करते हैं, लेकिन पैरवी आतंकियों की करते थे। सीएम योगी ने कहा कि अगर कोर्ट उस मामले में हस्तक्षेप नहीं करता तो ये आतंकवादी आज छूटकर देश और प्रदेश को दहला चुके होते। कोर्ट ने सारे मामले का संज्ञान लेकर इन आतंकवादियों को उम्रकैद की सजा सुनाई। मुख्यमंत्री विधानसभा में बुधवार को अनुपूरक बजट पर चर्चा का जवाब दे रहे थे। मुख्यमंत्री के जवाब के साथ ही अनुपूरक बजट और उससे संबंधित विनियोग विधेयक विपक्ष की गैरमौजूदगी में सर्वसम्मति से पारित हो गया। सीएम ने इस दौरान उन्होंने सपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। साथ ही विपक्षी बसपा को सपा से सचेत रहने की सलाह भी दी। उन्होंने कहा कि विपक्षियों के कारनामे जनता के सामने न आने पाएं, इसीलिए वे बहाना बनाकर बहस से भाग रहे और वाकआउट कर गए। योगी ने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर खुलकर चर्चा चाहती है। साथ ही यह भी चाहती है कि सकारात्मक सोच से वे प्रदेश के विकास और प्रगति में भागीदार बनें।