1. हिन्दी समाचार
  2. जिला चिकित्सालय में सख्ती से कराया जा रहा है सोशल डिस्टेंस का पालन

जिला चिकित्सालय में सख्ती से कराया जा रहा है सोशल डिस्टेंस का पालन

Social Distance Is Being Strictly Followed In The District Hospital

By ravijaiswal 
Updated Date

 

पढ़ें :- Birthday special: दुबई में सेलिब्रेट करेगी नम्रता अपना बर्थड़े, पार्टी में शामिल होंगे ये लोग

लॉक डाउन के वावजूद अब जिला अस्पताल में मरीजो की संख्या लगातार बढ़ती जा रही.दूसरे पर वैश्विक महामारी डर भी है .लेकिन इन सबके के वावजूद भी जिला अस्पताल में बढ़ते मरीजो की संख्या को देखते हुए सख्ती से लॉक डाउन में जो सोशल डिस्टेन्स है उसका बखूबी कराया जा रहा है पालन.

गोरखपुर। लॉक डॉउन 3.0 में कुछ छूट मिली तो जिला प्रशासन द्वारा दुकानदारो के पास जारी किए गए .और दूसरे तरफ यात्रियों का अवगमन शुरू हो गया जो दूर दराज फंसे थे वह लोग अपने घरों के तरफ रुख कर रहे हैं जिससे सड़कों पर आवागमन काफी बढ़ गया । इस दौरान गोरखपुर के नेताजी सुभाष चंद्र बोस जिला चिकित्सालय में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस स्थिति में प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार सामाजिक दूरी बनाए रखने का पालन करते हुए जिला चिकित्सालय के प्रमुख अधीक्षक डॉ सतीश कुमार श्रीवास्तव ने मरीजों की संख्या बढ़ते देख ओपीडी परिसर में पर्चा काउंटर और दवा वितरण काउंटर के समक्ष 1 मीटर की दूरी के अंतर्गत गोले बनवाएं। चिकित्सकों के पास भीड़ इकट्ठा ना हो इसके तहत वहां पर भी सामाजिक दूरी का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। जिला अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक ने बताया कि सोशल दिस्टेंसिंग को कायम रखने के लिए एक मरीज़ से दूसरे मरीज के बीच की दूरी जैसा कि प्रधानमंत्री जी ने कहा कि एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के बीच दो गज या 5 फीट का फासला रहे, उसी को देखते हुए यहाँ सोशल डिस्टेंस का पालन कराया जा रहा है . जिससे कि मरीज़ में एक दूसरे से संक्रमण न होने पाए और कोरोना की महामारी फैलने न पाए इसी को ध्यान में रखते हुए जहां ओपीडी चल रही है, जहां पर्चा काउंटर है, जहां चिकित्सक मरीजों को देख रहे हैं और जहां दावा मिल रहा है, वहाँ वहां पर सोशल दिस्टेंसिंग मेंटेन करने के लिए ये गोले बनाए गए हैं ।और इसका पालन अच्छे तरीके से करने की कोशिश की जा रही है। दो, तीन से मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है, प्रतिदिन लगभग 4सौ से 5 सौ मरीज आ रहे हैं। फिजिशियन की सुविधा, पीडियाट्रिशियान, ऑर्थोपेडिक और आपातकालीन में सारी तरह की सुविधाएं उपलब्ध करते हैं, इसके साथ ही साथ कार्डियोलॉजी की सुविधा भी प्रदान करते हैं, इसके इलावा इनडोर के जो भी मरीज भर्ती हो रहे हैं उनको देखने सुचारू रूप से इलाज करने के अस्पताल के सभी चिकित्सक समय से लगे हुए हैं, मरीजों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं होगी।

पढ़ें :- कैटरीना कैफ की बहन की सल्लू मियां ने तारीफ, पोस्टर शेयर कर लिखी ये बात...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...