1. हिन्दी समाचार
  2. सोनौली:समाजवादियों ने शौर्य दिवस के रूप में मनाया नेताजी सुभाषचंद्र की जयंती–

सोनौली:समाजवादियों ने शौर्य दिवस के रूप में मनाया नेताजी सुभाषचंद्र की जयंती–

Socialists Celebrated The Anniversary Of Netaji Subhash Chandra As Shaurya Day

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

सोनौली : आज़ादी के महानायक नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 123 वीं जयंती को गुरुवार की सुबह को सोनौली नगर के रामजानकी चौराहे पर समाजवादी कार्यकर्ताओं ने शौर्य दिवस के रूप में मनाया।

पढ़ें :- फिर बढ़े पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिए क्‍या रहे 4 महानगरों में भाव...

पर्यावरणीय संस्था”सेज” व समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं के संयुक्त बैनर तले आयोजित इस जयंती पर्व को संबोधित करते हुए युवा सपा नेता अनुराग मणि त्रिपाठी ने कहा कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस सही मायने में प्रखर समाजवादी पुरोधा ही थें।यही कारण था कि अंग्रेजी हुकूमत के दरम्यान भी देश की सर्वोच्च सिविल परीक्षा में पूरे देश में प्रथम स्थान हासिल करने के बाद भी जिन्होंने नौकरशाही पसंद नहीं की और गुलाम राष्ट्र के शोषित समाज की बागडोर खुद के हाथों संभाल सफल नेतृत्व के बूते देश को गुलामी की दास्तां की बेड़ियों से मुक्त कराया।

इसी क्रम में संस्था के सचिव अनिल गुप्ता उर्फ गुड्डू ने बताया कि आज़ाद हिंद फौज की स्थापना कर नेताजी ने अपने रणकौशल का जो परिचय दिया वह आज भी अविस्मरणीय है।यही कारण है जिन्हें आज भी युगपुरुष कहा जाता है।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से संतोष अग्रहरी, राजकुमार जायसवाल, प्रवीण मद्धेशिया,निजाम कुरैशी,अजय जायसवाल,अनवर हुसैन,सूरज प्रजापति, दिलीप मद्धेशिया, दीनदयाल वर्मा, चक्रबहादुर गिरी,चंदन विश्वकर्मा,धीरज मोदनवाल, सहित दर्जनों की संख्या में लोग उपस्थित रहें।

कार्यक्रम का संचालन गुड्डू गुप्ता ने किया जबकि अमन मद्धेशिया ने सभी आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया।

पढ़ें :- नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली भारत के दौरे पर आएंगे, क्या सुधरेंगे रिश्ते?

संवाददाता-विजय चौरसिया

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...