1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. पाक की यातना सहकर लौटे जवान ने सेना पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

पाक की यातना सहकर लौटे जवान ने सेना पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

By आशीष यादव 
Updated Date

नई दिल्ली। सेना के जवान चंदू चव्हाण 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अनजाने में पाकिस्तान चला गया था। चार महीने तक वहां हिरासत में रहने के बाद वह भारत लौट आया था। चंदू चव्हाण (Chandu Chavhan) ने सेना पर लगातार उसका उत्पीड़न करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह इस्तीफा देने जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘जब से मैं पाकिस्तान से लौटा हूं लगातार सेना (Indian Army) की ओर से उत्पीड़न किया जा रहा है और मुझे संदिग्ध दृष्टि से देखा जाता है, इसलिए मैंने सेना छोड़ने का फैसला किया है।’

भारतीय सेना के सूत्रों ने शनिवार को कहा कि जवान के खिलाफ अनुशासनहीनता के 5 मामले चल रहे हैं। इसके अलावा, पिछले लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान धुले में प्रशासन से भी इसके खिलाफ शिकायत मिली थी। इसे मीडिया में भी दिखाया गया था।

ड्यूटी के दौरान नशे में भी पाया गया था

सूत्रों ने बताया कि अहमदनगर में बख्तरबंद कोर सेंटर में तैनात चव्हाण यूनिट लाइन में नशे में पाया गया था। अनुशासनात्मक कार्यवाही के दौरान ही चंदू यूनिट परिसर से फरार हो गया था। उसे 3 अक्टूबर से लापता घोषित किया गया है।

सेना ने कहा- अनुशासनहीनता को स्वीकार नहीं किया जाएगा

सूत्रों के अनुसार, चंदू की काउंसलिंग करने की भी कोशिश की, लेकिन उसके रवैये के कारण कोई फायदा नहीं हुआ। सूत्रों ने यह भी स्पष्ट किया कि सेना किसी भी परिस्थिति में इस तरह की अनुशासनहीनता को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

कौन हैं चंदू चौहान?

भारतीय सेना के जवान चंदू बाबूलाल चौहान 21 जनवरी 2017 को पाकिस्तान से रिहा होकर स्वदेश लौटे थे। चंदू चौहान 29 सितंबर 2016 को गलती से एलओसी क्रॉस करके पाकिस्तान में चले गए थे। ये वो दिन था जब भारतीय फौज के बहादुर कमांडोज़ ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में घुसकर आठ आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया था। ऐसे में चंदू चौहान को पाकिस्तानी सेना क्या सही सलामत वापस करेगी ये बड़ा सवाल सबके ज़हन में था।

21 जनवरी को हुआ रिहा

साढ़े तीन महीने बाद भारतीय सरकार के विभिन्न खेमों ने अपने-अपने स्तर पर बातचीत की थी। पाकिस्तान की सेना के आला अधिकारियों से लगातार संपर्क बनाकर चंदू चौहान को सही सलामत वापस लाने के लिए सरकार ने एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था। सरकार को इस मामले में कामयाबी मिली थी और पाकिस्तान जवान को वापस कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...