पूर्व सैनिक जानें क्यों बना साइको किलर, कर डाले 2 घंटे में 6 मर्डर…

delhi-crime

नई दिल्ली। दिल्ली से सटे पलवल में एक ही रात में 6 लोगों को मौत की नींद सुलाने वाला साइको किलर अब पुलिस के गिरफ्त में आ चुका है। आरोपी की पहचान नरेश धनखकर के रूप में हुई है जो फरीदाबाद के मछगर का रहना वाला है। बताया जा रहा है कि हत्यारोपी नरेश सेवानिवृत्त फौजी है। वह जन स्वास्थ्य विभाग में एसडीओ भी रह चुका है। मानसिक हालत ठीक न होने की वजह से आरोपी बेवजह घटनाओं को अंजाम दे रहा था।

आरोपी ने जो हत्याएं की है, वो अलग-अलग जगहो पर की थी। आरोपी ने सभी हत्याएं रॉड से पीट-पीटकर की हैं। पलवल में आज सुबह करीब 2 से 4 बजे के बीच की हैं ये हत्याएं हुई हैं। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के दौरान आरोपी ने पुलिस पर भी हमला कर दिया। आरोपी के साइको किलर होने का शक जताया जा रहा है। इस वारदात के बाद पलवल में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। आरोपी को आदर्श नगर पलवल से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने इस आरोपी को घायल अवस्था में पकड़ा है। हत्या के आरोपी को पलवल सिविल अस्पताल लाने के बाद डॉक्टरों ने इसको फरीदाबाद रेफर कर दिया है।

{ यह भी पढ़ें:- कम उम्र में माउंट एवरेस्ट फतह कर शिवांगी पाठक ने रचा इतिहास }

जानकारी के मुताबिक, सोमवार रात सीसीटीवी में दिखने वाले सनकी व्यक्ति ने अलग-अलग इलाकों में 6 लोगों की हत्या कर दी थी, हालांकि ये सभी हत्याएं 100 मीटर के दायरे में हुई थीं। बताया जा रहा है कि इस साइको किलर ने इन 6 लोगों की हत्याएं रॉड से की हैं। आरोपी 6 लोगों का मर्डर करने के बाद से फरार था। पूरे इलाके में इस घटना के बाद से सनसनी फैल गई है।

पुलिस के मुताबिक, पलवल अस्पताल में एक महिला की हत्या करने के बाद हत्यारोपी ने मोती कॉलोनी पार्क के चौकीदार, रसूलपुर रोड से सुरेश इंजीनियरिंग वर्क्स के चौकीदार, रसूलपुर रोड मार्केट के चौकीदार सहित कुल 7 लोगों पर लोहे की रॉड से हमला किया। इसमें छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

{ यह भी पढ़ें:- हॉरर किलिंग दिल्ली: 'मोहब्बत में मर्डर' का मजहबी रंग }

नई दिल्ली। दिल्ली से सटे पलवल में एक ही रात में 6 लोगों को मौत की नींद सुलाने वाला साइको किलर अब पुलिस के गिरफ्त में आ चुका है। आरोपी की पहचान नरेश धनखकर के रूप में हुई है जो फरीदाबाद के मछगर का रहना वाला है। बताया जा रहा है कि हत्यारोपी नरेश सेवानिवृत्त फौजी है। वह जन स्वास्थ्य विभाग में एसडीओ भी रह चुका है। मानसिक हालत ठीक न होने की वजह से आरोपी बेवजह घटनाओं को अंजाम…
Loading...