जल्द निकलेगा राम मंदिर मुद्दे का हल , धैर्य रखें संत : योगी आदित्यनाथ

अयोध्या। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मसले पर संतों को थोड़ा और धैर्य रखने की सलाह देते हुए इस मसले का हल बहुत जल्द निकलेगा। योगी ने संतों को सावधान करते हुए कहा कि श्रीराम मंदिर मसला समाधान के करीब है। उन्होने कहा कि कुछ षडयंत्रकारी माहौल को खराब कर मंदिर निर्माण में अवरोध पैदा करने की साजिश कर रहे हैं। सीएम ने संतों को ऐसे लोगों को सावधान रहने को कहा गया है।

Solution Of Ram Temple In Ayodhya Will Come Out Soon Syas Cm Yogi :

मुख्यमंत्री श्री योगी सोमवार को श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष एवं मणिराम छावनी के पीठाधीश्वर महंत नृत्यगोपाल दास के जन्मदिन के अवसर पर आयोजित संत सम्मेलन को संबोधित करने वहां पहुंचे थे। इस दौरान संतों ने अपने सवालों से उन्हे घेरने का भी प्रयास किया। इस पर योगी ने कहा कि श्रीरामजन्मभूमि आंदोलन से भी वे जुड़े रहे हैं। उन्होने कहा कि इस मुख्यमंत्री बनने के बाद भी इस मसले पर उनकी वही भावना है, जो पहले थी। ऐसे में किसी संत को उनकी नियत पर संदेह नही करना चाहिए।

सीएम योगी ने संतों को नसीहत देते हुए कहा कि कोई भी सरकार संवैधानिक दायरे में रहकर ही कार्य कर सकती है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण में देरी होने की बात वही लोग बोल रहे हैं जो मंदिर आन्दोलन के साथ ही, मंदिर जाने तक का विरोध करते रहे हैं। उन्होने कहा कि कांग्रेस के एक नेता ने मंदिर प्रकरण की सुनवाई 2019 चुनाव के बाद करने की दलील दी थी।

मुख्यमंत्री योगी ने न्यास अध्यक्ष को जन्मदिन की बधाई देने के साथ ही उनके शतायु होने की कामना भी की। इससे पहले साध्वी ऋतम्भरा के गुरुदेव युगपुरुष स्वामी परमानंद सहित अन्य संतों ने मुख्यमंत्री योगी घेराबंदी करते हुए अतिशीघ्र राम मंदिर निर्माण की वकालत की। वहां मौजूद हजारों संतों ने सीएम से कहा कि भगवान राम जब भव्य मंदिर में विरोजमान होंगे तो आयोध्या अपने आप सुंदर हो जाएगा।

अयोध्या। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मसले पर संतों को थोड़ा और धैर्य रखने की सलाह देते हुए इस मसले का हल बहुत जल्द निकलेगा। योगी ने संतों को सावधान करते हुए कहा कि श्रीराम मंदिर मसला समाधान के करीब है। उन्होने कहा कि कुछ षडयंत्रकारी माहौल को खराब कर मंदिर निर्माण में अवरोध पैदा करने की साजिश कर रहे हैं। सीएम ने संतों को ऐसे लोगों को सावधान रहने को कहा गया है। मुख्यमंत्री श्री योगी सोमवार को श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष एवं मणिराम छावनी के पीठाधीश्वर महंत नृत्यगोपाल दास के जन्मदिन के अवसर पर आयोजित संत सम्मेलन को संबोधित करने वहां पहुंचे थे। इस दौरान संतों ने अपने सवालों से उन्हे घेरने का भी प्रयास किया। इस पर योगी ने कहा कि श्रीरामजन्मभूमि आंदोलन से भी वे जुड़े रहे हैं। उन्होने कहा कि इस मुख्यमंत्री बनने के बाद भी इस मसले पर उनकी वही भावना है, जो पहले थी। ऐसे में किसी संत को उनकी नियत पर संदेह नही करना चाहिए। सीएम योगी ने संतों को नसीहत देते हुए कहा कि कोई भी सरकार संवैधानिक दायरे में रहकर ही कार्य कर सकती है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण में देरी होने की बात वही लोग बोल रहे हैं जो मंदिर आन्दोलन के साथ ही, मंदिर जाने तक का विरोध करते रहे हैं। उन्होने कहा कि कांग्रेस के एक नेता ने मंदिर प्रकरण की सुनवाई 2019 चुनाव के बाद करने की दलील दी थी। मुख्यमंत्री योगी ने न्यास अध्यक्ष को जन्मदिन की बधाई देने के साथ ही उनके शतायु होने की कामना भी की। इससे पहले साध्वी ऋतम्भरा के गुरुदेव युगपुरुष स्वामी परमानंद सहित अन्य संतों ने मुख्यमंत्री योगी घेराबंदी करते हुए अतिशीघ्र राम मंदिर निर्माण की वकालत की। वहां मौजूद हजारों संतों ने सीएम से कहा कि भगवान राम जब भव्य मंदिर में विरोजमान होंगे तो आयोध्या अपने आप सुंदर हो जाएगा।