WhatsApp को 1 फरवरी से नहीं चला पाएंगे कुछ यूज़र्स

WhatsApp
WhatsApp आज से नहीं चला पाएंगे लाखों यूज़र्स, जानें क्यों

नई दिल्ली। WhatsApp अगले महीने की पहली तारीख यानी 1 फरवरी 2020 से कई Android स्मार्टफोन और iPhone डिवाइस पर काम करना बंद कर देगा। इन मोबाइल फोन पर चल रहे व्हाट्सऐप अकाउंट पूरी तरह से काम करना बंद कर देंगे और अकाउंट में शामिल सभी चैट भी डिलीट हो जाएगी। इससे बचने के लिए यूज़र्स को तय सीमा से पहले अपनी चैट हिस्ट्री का बैकअप लेना होगा। इससे पहले 31 दिसंबर से व्हाट्सऐप ने Windows फोन के लिए सपोर्ट बंद कर दिया था।

Some Users Will Not Be Able To Run Whatsapp From February 1 :

दरअसल, एक ब्लॉग पोस्ट में साइबर सिक्योरिटी कंपनी ने जो ढूंढा है, उसे डिटेल में बताते हुए लिखा है की इसरायली निजी कंपनी, ने कहा है की इस दोष का मतलब यह है की लोग किसी के रिप्लाई को एडिट कर पाएंगे। इसका इस्तेमाल काफी गलत तरीके से किया जा सकता है, क्योंकि Whatsapp के करीब 1.5 बिलियन यूजर्स हैं।

वहीं, रिसर्चर्स को ऐसे तीन तरीके मिले हैं, जिससे मैसेजेज में बदलाव किया जा सकता है। पहले तरीके से, ग्रुप चैट में ‘Quote’ फीचर के इस्तेमाल से सेन्डर की आइडेंटिटी बदली जा सकती है। दूसरे तरीके से, यूजर्स द्वारा दिए गए रिप्लाई टेस्ट को बदला जा सकता है और तीसरे तरीके से, प्राइवेट मैसेज भेजा जा सकता है, जो पब्लिक मैसेज की तरह दिखाई देगा।

इतना ही नहीं फेसबुक के प्रवक्ता का कहना है कि Whatsapp में जिस तरह की सुरक्षा प्रदान की जाती है, उसमें किसी तरह का दोष होने की राय देना सही नहीं है। Whatsapp के भारत में 400 मिलियन से ज्यादा यूजर्स हैं। इस प्लेटफार्म को भारत में लम्बे समय से झूठी खबरों को फैलाने के लिए इस्तेमाल किये जाने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

नई दिल्ली। WhatsApp अगले महीने की पहली तारीख यानी 1 फरवरी 2020 से कई Android स्मार्टफोन और iPhone डिवाइस पर काम करना बंद कर देगा। इन मोबाइल फोन पर चल रहे व्हाट्सऐप अकाउंट पूरी तरह से काम करना बंद कर देंगे और अकाउंट में शामिल सभी चैट भी डिलीट हो जाएगी। इससे बचने के लिए यूज़र्स को तय सीमा से पहले अपनी चैट हिस्ट्री का बैकअप लेना होगा। इससे पहले 31 दिसंबर से व्हाट्सऐप ने Windows फोन के लिए सपोर्ट बंद कर दिया था। दरअसल, एक ब्लॉग पोस्ट में साइबर सिक्योरिटी कंपनी ने जो ढूंढा है, उसे डिटेल में बताते हुए लिखा है की इसरायली निजी कंपनी, ने कहा है की इस दोष का मतलब यह है की लोग किसी के रिप्लाई को एडिट कर पाएंगे। इसका इस्तेमाल काफी गलत तरीके से किया जा सकता है, क्योंकि Whatsapp के करीब 1.5 बिलियन यूजर्स हैं। वहीं, रिसर्चर्स को ऐसे तीन तरीके मिले हैं, जिससे मैसेजेज में बदलाव किया जा सकता है। पहले तरीके से, ग्रुप चैट में 'Quote' फीचर के इस्तेमाल से सेन्डर की आइडेंटिटी बदली जा सकती है। दूसरे तरीके से, यूजर्स द्वारा दिए गए रिप्लाई टेस्ट को बदला जा सकता है और तीसरे तरीके से, प्राइवेट मैसेज भेजा जा सकता है, जो पब्लिक मैसेज की तरह दिखाई देगा। इतना ही नहीं फेसबुक के प्रवक्ता का कहना है कि Whatsapp में जिस तरह की सुरक्षा प्रदान की जाती है, उसमें किसी तरह का दोष होने की राय देना सही नहीं है। Whatsapp के भारत में 400 मिलियन से ज्यादा यूजर्स हैं। इस प्लेटफार्म को भारत में लम्बे समय से झूठी खबरों को फैलाने के लिए इस्तेमाल किये जाने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।