बेटे से बोली 22 साल की सौतेली मां-मुझे खुश कर दो, जिंदगी भर साथ रहूंगी

नई दिल्ली: बिहार के बक्सर में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर हर कोई हैरान है। बक्सर ग्राम कचहरी ने 22 साल की महिला को सौतेले बेटे के साथ पत्नी के रूप में रहने का फरमान सुनाया है। दोनों के बीच पिछले आठ साल से संबंध थे। दोनों के दो बच्चे भी हुए थे।




बताया जा रहा है कि जवाहर ने पहली पत्नी की मौत के बाद पूनम से शादी की थी। पहली पत्नी की मौत आठ साल पहले हुई थी। जवाहर ने बताया कि उसे दो साल पहले पूनम और विकास के रिश्ते के बारे में पता चला। उसके बाद उसने कहा कि वह बेटे और पत्नी को घर में रख तो सकता है लेकिन संपत्ति की एक फूटी कौड़ी भी नहीं देगा। लेकिन सौतेली माँ अपनी सौतेले के बेटे के साथ ही अपने पति को छोड़कर जीवन गुजरना चाहती है। इन दो हम उम्र के बीच कहानी से बाहर हो चुके लगभग पचास वर्षीय पति ने पहले तो मान-मनौव्वल और पंचायती की, किन्तु बात बनते न देख आखिरकार दोनों को दो छोटी-छोटी बच्चियों समेत घर से निकाल ही दिया।




पंचायत के फैसले पर महिला के 52 वर्षीय पति ने कहा कि वह दूसरी पत्नी और पहली पत्नी से हुए बच्चे को संपत्ति से बेदखल कर देगा। उसने दूसरी पत्नी से हुए दो बच्चों की कस्टडी मांगी है। पूनम ने भी ग्राम कचहरी के सामने कहा कि वह विकास से अलग होने पर सुसाइड कर लेगी। पूनम ने बताया कि उसकी तीन साल की बेटी और दो साल का बेटा है। विकास दसवीं पास है और जमशेदपुर में एक निजी कंपनी में काम करता है।

Loading...