सोनौली बार्डर:नेपाल से 768 भारतीय नागरिकों की वतन वापसी

IMG-20200528-WA0000

महराजगंज:विदेश मंत्रालय की पहल पर शुक्रवार को चौथे दिन भी बड़ी संख्या में नेपाल में फंसे भारतीय नागरिकों को सोनौली सीमा से एंट्री मिली। शाम तक 768 लोगों को एंट्री मिल गई थी, जबकि ढाई हजार के करीब लोग नो मेंस लैंड पर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे।

Sonauli Border 768 Indian Nationals Return To Nepal :

शुक्रवार को यूपी के अलावा अन्य प्रदेशों के 768 भारतीय नागरिकों को सोनौली से एंट्री मिली। इन सभी की इमीग्रेशन कार्यालय पर एंट्री कर स्क्रीनिंग की गई। सभी से मेडिकल जांच के बाद सेल्फ डिक्लियरेशन फार्म भरवाया गया। डाटा लेकर परिचय पत्र जमा कराया गया।

इसके बाद इमीग्रेशन कार्यालय पर लोगों को भोजन कराने के बाद सभी को रोडवेज की बसों से सोनौली से गोरखपुर भेजा गया। गोरखपुर से इन लोगों को ट्रेन से भेजने की व्यवस्था की जा रही है। शुक्रवार को कर्नाटक, तेलंगाना, बंगाल, असम, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के लोगों को एंट्री मिली। सभी नागरिकों को सोनौली हेल्थ डेस्क पर तैनात कर्मचारी स्वास्थ्य प्रमाण पत्र दे रहे हैं। इस प्रमाण पत्र के आधार पर सभी लोग घर जाकर होम क्वारंटीन होंगे।

एसडीएम नौतनवा जसधीर सिंह ने बताया कि शुक्रवार की शाम तक 768 लोगों की एंट्री हुई। ये लोग यूपी व बिहार के अलावा अन्य प्रदेशों के हैं। वहीं ढाई हजार के करीब यूपी व बिहार सहित अन्य राज्यों के लोग नो मेंस लैंड पर हैं, जिन्हें इमीग्रेशन परिसर में जगह खाली होने पर रात तक एंट्री दी जाएगी।

महराजगंज:विदेश मंत्रालय की पहल पर शुक्रवार को चौथे दिन भी बड़ी संख्या में नेपाल में फंसे भारतीय नागरिकों को सोनौली सीमा से एंट्री मिली। शाम तक 768 लोगों को एंट्री मिल गई थी, जबकि ढाई हजार के करीब लोग नो मेंस लैंड पर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। शुक्रवार को यूपी के अलावा अन्य प्रदेशों के 768 भारतीय नागरिकों को सोनौली से एंट्री मिली। इन सभी की इमीग्रेशन कार्यालय पर एंट्री कर स्क्रीनिंग की गई। सभी से मेडिकल जांच के बाद सेल्फ डिक्लियरेशन फार्म भरवाया गया। डाटा लेकर परिचय पत्र जमा कराया गया। इसके बाद इमीग्रेशन कार्यालय पर लोगों को भोजन कराने के बाद सभी को रोडवेज की बसों से सोनौली से गोरखपुर भेजा गया। गोरखपुर से इन लोगों को ट्रेन से भेजने की व्यवस्था की जा रही है। शुक्रवार को कर्नाटक, तेलंगाना, बंगाल, असम, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के लोगों को एंट्री मिली। सभी नागरिकों को सोनौली हेल्थ डेस्क पर तैनात कर्मचारी स्वास्थ्य प्रमाण पत्र दे रहे हैं। इस प्रमाण पत्र के आधार पर सभी लोग घर जाकर होम क्वारंटीन होंगे। एसडीएम नौतनवा जसधीर सिंह ने बताया कि शुक्रवार की शाम तक 768 लोगों की एंट्री हुई। ये लोग यूपी व बिहार के अलावा अन्य प्रदेशों के हैं। वहीं ढाई हजार के करीब यूपी व बिहार सहित अन्य राज्यों के लोग नो मेंस लैंड पर हैं, जिन्हें इमीग्रेशन परिसर में जगह खाली होने पर रात तक एंट्री दी जाएगी।