सोनौली बार्डर बना वियतनामी मटर का सेफ जोन 

IMG-20190617-WA0014

महराजगज::भारत-नेपाल सीमा से लगातार पकड़ी जा रही वियतनामी मटर की खेप से मटर की तस्करी के बड़े कारोबार का पर्दाफाश हो रहा है।

Sonauli Border Made Vietnamese Peas Safe Zone :

सोनौली सीमा पर बीते एक माह के भीतर लाखों रुपये के वियतनामी मटर की बरामदगी इस बात की तस्दीक करती है कि मादक पदार्थ के साथ मटर के बड़े तस्कर अब इस सीमा को सबसे मुफीद मान रहे हैं। इतना ही नहीं इलाके के कई सीमावर्ती गांवों में भी यह धंधा जोरों पर चल रहा है।

सीमावर्ती गांव के युवा और महिलाएं भी इस काम को अंजाम देने में पीछे नहीं हैं। वियतनामी मटर की तस्करी से भारतीय राजस्व को लाखों का चूना लग रहा है।

वियतनामी मटर नेपाल में 36 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बिक रहे हैं वहीं भारतीय बाजारों में यह 43 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बिक रहे हैं। तस्कर सुरक्षा एजेंसियों की आंखों में धूल झोंककर अपने काम को अंजाम दे रहे हैं।

वह भारत-नेपाल सीमा पर स्थित सोनौली, शेखफरेंदा, केवटलिया,खनुआ, हरदीडाली, सुंडी, मुडिला, डोमोहनघाट, खेराघाट, पुरवा, चंडी थान,सोनपिपरी, श्यामकाट,भगवानपुर, सेवतरी, ठूठीबारी आदि नाकों से तस्करी कर रहे हैं।

सहायक कमांडेंट सशस्त्र सीमा बल संतोष पंडित ने कहा कि सीमा पर एसएसबी जवान पूरी तरह से मुस्तैद हैं।

किसी भी हाल में तस्करी नहीं होनी दी जाएगी। पुलिस के साथ एसएसबी जवान सीमा पर चेकिग भी करते रहते हैं।

महराजगज::भारत-नेपाल सीमा से लगातार पकड़ी जा रही वियतनामी मटर की खेप से मटर की तस्करी के बड़े कारोबार का पर्दाफाश हो रहा है। सोनौली सीमा पर बीते एक माह के भीतर लाखों रुपये के वियतनामी मटर की बरामदगी इस बात की तस्दीक करती है कि मादक पदार्थ के साथ मटर के बड़े तस्कर अब इस सीमा को सबसे मुफीद मान रहे हैं। इतना ही नहीं इलाके के कई सीमावर्ती गांवों में भी यह धंधा जोरों पर चल रहा है। सीमावर्ती गांव के युवा और महिलाएं भी इस काम को अंजाम देने में पीछे नहीं हैं। वियतनामी मटर की तस्करी से भारतीय राजस्व को लाखों का चूना लग रहा है। वियतनामी मटर नेपाल में 36 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बिक रहे हैं वहीं भारतीय बाजारों में यह 43 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बिक रहे हैं। तस्कर सुरक्षा एजेंसियों की आंखों में धूल झोंककर अपने काम को अंजाम दे रहे हैं। वह भारत-नेपाल सीमा पर स्थित सोनौली, शेखफरेंदा, केवटलिया,खनुआ, हरदीडाली, सुंडी, मुडिला, डोमोहनघाट, खेराघाट, पुरवा, चंडी थान,सोनपिपरी, श्यामकाट,भगवानपुर, सेवतरी, ठूठीबारी आदि नाकों से तस्करी कर रहे हैं। सहायक कमांडेंट सशस्त्र सीमा बल संतोष पंडित ने कहा कि सीमा पर एसएसबी जवान पूरी तरह से मुस्तैद हैं। किसी भी हाल में तस्करी नहीं होनी दी जाएगी। पुलिस के साथ एसएसबी जवान सीमा पर चेकिग भी करते रहते हैं।