सोनौली:आज से नेपाल जाएगा मालवाहक,दो दिन हड़ताल के बाद समझौत

IMG-20200607-WA0002

सोनौली । नेपाल कस्टम में प्रवेश रोके जाने के विरोध में शुरू भारतीय क्लीयरिंग एजेंटों व ट्रांसपोर्टरों की दो दिन चली हड़ताल समझौते के बाद शनिवार को समाप्त हो गई। रविवार से मालवाहक वाहन नेपाल जाएंगे। इससे पहले हड़ताल के कारण सौनौली से लेकर नौतनवा तक एक लेन में कई सौ वाहनों की लंबी कतार लग गई। नेपाल कस्टम को दो दिन में करीब 50 करोड़ के राजस्व की चपत लग चुकी है। नेपाल के बेलहिया कस्टम में एंट्री सहित तीन सूत्री मांगों को लेकर भारतीय कस्टम एजेंट व ट्रांसपोर्टर ने शुक्रवार से हड़ताल शुरू कर दी। शनिवार को दूसरे दिन भी हड़ताल जारी रही। इसकी वजह से सुबह से ही मालवाहक, डीजल व पेट्रोल लदे वाहन सोनौली के रास्ते नेपाल नहीं गए। सोनौली से नौतनवा तक एक लेन में कई सौ वाहनों की कतार लग गई। हड़ताल शुरू होने के बाद भारतीय अधिकारी और क्लीयरिंग एजेंट की पहली बैठक बेनतीजा रही।

Sonauli Cargo Will Go To Nepal From Today Agreement After Two Days Strike :

दूसरी बैठक शनिवार की शाम सोनौली पुलिस चौकी पर हुई। दोनों देशों के अधिकारियों व दोनों देशों के कस्टम एजेंटों के बीच हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि पहले जैसे ही दोनों देशों के कस्टम एजेंट मिलकर काम करेंगे। हालांकि, नेपाल की ओर से कोई लिखित आश्वासन नहीं मिला। लेकिन एजेंटों में सहमति बनने के बाद भारतीय कस्टम एजेंट एसोसिएशन ने अपनी हड़ताल खत्म करने का एलान किया। बैठक में नेपाल के भैरहवा विधायक संतोष पांडेय, सोनौली नपं अध्यक्ष प्रतिनिधि सुधीर त्रिपाठी, नौतनवा सीओ राजू कुमार साव, उपसेनानायक एसएसबी संजय प्रसाद, सोनौली कस्टम क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष रतन गुप्ता,सजंय अग्रवाल, वकील अहमद,पुुुनीत अग्रहरि भैरहवा कस्टम संघ के पूर्व अध्यक्ष विष्णु शर्मा और कृष्ण धीमरे आदि मौजूद रहे।

यह था मामला……..

नेपाल कस्टम में केवल नेपालियों की एंट्री का फरमान जारी हुआ। भारतीय क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर इसका विरोध कर रहे थे। उनका कहना था कि जिस तरह वर्षों से वे नेपाल कस्टम में कार्य करते आ रहे हैं, आगे भी उसे जारी रखा जाए।

रतन गुप्ता, अध्यक्ष, सोनौली कस्टम क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन ने बताया कि नेपाल के भैरहवां कस्टम संघ ने तीनों मांगों को मान लिया है। सब कुछ पहले जैसे चल रहा था वैसे चलेगा । इसके कारण क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है। रविवार से मालवाहक नेपाल जाएंगे।

सोनौली । नेपाल कस्टम में प्रवेश रोके जाने के विरोध में शुरू भारतीय क्लीयरिंग एजेंटों व ट्रांसपोर्टरों की दो दिन चली हड़ताल समझौते के बाद शनिवार को समाप्त हो गई। रविवार से मालवाहक वाहन नेपाल जाएंगे। इससे पहले हड़ताल के कारण सौनौली से लेकर नौतनवा तक एक लेन में कई सौ वाहनों की लंबी कतार लग गई। नेपाल कस्टम को दो दिन में करीब 50 करोड़ के राजस्व की चपत लग चुकी है। नेपाल के बेलहिया कस्टम में एंट्री सहित तीन सूत्री मांगों को लेकर भारतीय कस्टम एजेंट व ट्रांसपोर्टर ने शुक्रवार से हड़ताल शुरू कर दी। शनिवार को दूसरे दिन भी हड़ताल जारी रही। इसकी वजह से सुबह से ही मालवाहक, डीजल व पेट्रोल लदे वाहन सोनौली के रास्ते नेपाल नहीं गए। सोनौली से नौतनवा तक एक लेन में कई सौ वाहनों की कतार लग गई। हड़ताल शुरू होने के बाद भारतीय अधिकारी और क्लीयरिंग एजेंट की पहली बैठक बेनतीजा रही। दूसरी बैठक शनिवार की शाम सोनौली पुलिस चौकी पर हुई। दोनों देशों के अधिकारियों व दोनों देशों के कस्टम एजेंटों के बीच हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि पहले जैसे ही दोनों देशों के कस्टम एजेंट मिलकर काम करेंगे। हालांकि, नेपाल की ओर से कोई लिखित आश्वासन नहीं मिला। लेकिन एजेंटों में सहमति बनने के बाद भारतीय कस्टम एजेंट एसोसिएशन ने अपनी हड़ताल खत्म करने का एलान किया। बैठक में नेपाल के भैरहवा विधायक संतोष पांडेय, सोनौली नपं अध्यक्ष प्रतिनिधि सुधीर त्रिपाठी, नौतनवा सीओ राजू कुमार साव, उपसेनानायक एसएसबी संजय प्रसाद, सोनौली कस्टम क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष रतन गुप्ता,सजंय अग्रवाल, वकील अहमद,पुुुनीत अग्रहरि भैरहवा कस्टम संघ के पूर्व अध्यक्ष विष्णु शर्मा और कृष्ण धीमरे आदि मौजूद रहे। यह था मामला........ नेपाल कस्टम में केवल नेपालियों की एंट्री का फरमान जारी हुआ। भारतीय क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर इसका विरोध कर रहे थे। उनका कहना था कि जिस तरह वर्षों से वे नेपाल कस्टम में कार्य करते आ रहे हैं, आगे भी उसे जारी रखा जाए। रतन गुप्ता, अध्यक्ष, सोनौली कस्टम क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन ने बताया कि नेपाल के भैरहवां कस्टम संघ ने तीनों मांगों को मान लिया है। सब कुछ पहले जैसे चल रहा था वैसे चलेगा । इसके कारण क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है। रविवार से मालवाहक नेपाल जाएंगे।