1. हिन्दी समाचार
  2. सोनभद्र जमीन विवाद : सीएम के आदेश के एक महीने बाद हटे प्रधान मुख्य वन संरक्षक

सोनभद्र जमीन विवाद : सीएम के आदेश के एक महीने बाद हटे प्रधान मुख्य वन संरक्षक

Sonbhadra Land Dispute Principal Chief Conservator Of Forests Withdraws A Month After Cms Order

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। बसपा शासनकाल में सोनभद्र में जेपी ग्रुप को वन विभाग की 1083 हेक्टेयर जमीन देने के मामले में जांच रिपोर्ट के बाद कार्रवाई शुरू हो गई है। योगी सरकार ने प्रमुख सचिव वन कल्पना अवस्थी और प्रधान मुख्य वन संरक्षक पवन कुमार को हटा दिया है।

पढ़ें :- 16 जनवरी 2021 का राशिफल: इस राशि के जातकों को मिलने वाला है रुका हुआ धन, जानिए अपनी राशि का हाल

हालांकि सीएम ने करीब एक माह पूर्व ही पवन कुमार को हटाने का आदेश दिया था, जबकि कल्पना अवस्थी ने जांच रिपोर्ट आने तक पवन को बरकरार रखने की वकालत की थी। इस मामले में राज्य सरकार ने अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार की अगुवाई में एक जांच करवाई और उसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौंपी गई।

अवैध रूप से जमीन दिए जाने के मामले में कल्पना अवस्थी पर कार्रवाई इसलिए की गई क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश आने के बाद भी पवन कुमार को उन्होंने नहीं हटाया था। बता दें कि, वन विभाग की जमीन केंद्र सरकार की अनुमति के बिना किसी को नहीं दी जा सकती, लेकिन वन विभाग के अधिकारियों ने नियमों की अनदेखी करके जेपी ग्रुप को जमीन दी थी।

अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार ने इस मामले में अपनी रिपोर्ट में लिखा था कि सोनभद्र में इस पूरे प्रकरण में नियमों की खुलकर अनदेखी की गई है। सीधे-सीधे तत्कालीन वन सचिव पवन कुमार पर आरोप लगाए थे, जिसके बाद उनको मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया था। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सचिव वन पवन कुमार और प्रमुख सचिव वन कल्पना अवस्थी को उनके पद से हटा दिया है।

पढ़ें :- महराजगंज:जनता ने मौका दिया तो क्षेत्र का होगा समग्र विकास: रवींद्र जैन

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...