डी के शिवकुमार से मिलने तिहाड़ पहुंची सोनिया गांधी, जानें मुलाकात क्यों है अहम

soniya gandhi
डी के शिवकुमार से मिलने तिहाड़ पहुंची सोनिया गांधी, जानें मुलाकात क्यों है अहम

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को मनी लांड्रिंग केस में तिहाड़ जेल में बंद कर्नाटक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री डी के शिवकुमार से मिलने पहुंची। बता दें कि इससे पहले सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आइएनएक्स मीडिया केस में बंद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम से मिलने तिहाड़ जेल गए थे।

Sonia Gandhi Arrives In Tihar To Meet Dk Shivakumar Know Why Meeting Is Important :

सोनिया गांधी ने बुधवार को पार्टी नेता और कनार्टक के पूर्व मंत्री डी.के. शिवकुमार से तिहाड़ जेल में की। शिवकुमार को ईडी ने धनशोधन के एक मामले में तीन सितंबर को गिरफ्तार किया था। उनकी जमानत याचिका अदालत में लंबित है और ईडी की जांच जारी है। कांग्रेस का कहना है कि केंद्रीय एजेंसियों ने राजनीतिक प्रतिशोध के कारण निशाना बनाया था, इसलिए नहीं कि उन्होंने कानून का उल्लंघन किया।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि यह कैडर के लिए एक संदेश है कि पार्टी ऐसे मामलों में जेल जाने वाले नेताओं के साथ मजबूती से खड़ी है। इससे पहले कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने भी तिहाड़ जेल जाकर शिवकुमार से मुलाकात की थी।

​शिवकुमार के मामले में 17 अक्टूबर को दिल्ली हाई कोर्ट में न्यायमूर्ति सुरेश कैत ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। याचिका में ये दावा किया गया था कि शिवकुमार के खिलाफ ये मामला राजनीति से प्रेरित है। उनके खिलाफ पर्याप्त सुबूत मौजूद नहीं है। ईडी ने डीके शिवकुमार की जमानत याचिका पर विरोध जताते हुए कहा था कि शिवकुमार काफी प्रभावशाली व्यक्ति हैं। ऐसे में यदि उन्हें रिहा कर दिया जाता है तो वह सबूतों से छेड़छाड़ और गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं।

कौन हैं डीके शिवकुमार

कर्नाटक कांग्रेस के दिग्गज नेता डीके शिवकुमार कई बार अपनी पार्टी के लिए संकट मोचक की भूमिका भी निभा चुके हैं। साल 2017 में गुजरात राज्यसभा चुनाव, कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार को लेकर कई बार शिवकुमार महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं।

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को मनी लांड्रिंग केस में तिहाड़ जेल में बंद कर्नाटक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री डी के शिवकुमार से मिलने पहुंची। बता दें कि इससे पहले सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आइएनएक्स मीडिया केस में बंद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम से मिलने तिहाड़ जेल गए थे। सोनिया गांधी ने बुधवार को पार्टी नेता और कनार्टक के पूर्व मंत्री डी.के. शिवकुमार से तिहाड़ जेल में की। शिवकुमार को ईडी ने धनशोधन के एक मामले में तीन सितंबर को गिरफ्तार किया था। उनकी जमानत याचिका अदालत में लंबित है और ईडी की जांच जारी है। कांग्रेस का कहना है कि केंद्रीय एजेंसियों ने राजनीतिक प्रतिशोध के कारण निशाना बनाया था, इसलिए नहीं कि उन्होंने कानून का उल्लंघन किया। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि यह कैडर के लिए एक संदेश है कि पार्टी ऐसे मामलों में जेल जाने वाले नेताओं के साथ मजबूती से खड़ी है। इससे पहले कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने भी तिहाड़ जेल जाकर शिवकुमार से मुलाकात की थी। ​शिवकुमार के मामले में 17 अक्टूबर को दिल्ली हाई कोर्ट में न्यायमूर्ति सुरेश कैत ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। याचिका में ये दावा किया गया था कि शिवकुमार के खिलाफ ये मामला राजनीति से प्रेरित है। उनके खिलाफ पर्याप्त सुबूत मौजूद नहीं है। ईडी ने डीके शिवकुमार की जमानत याचिका पर विरोध जताते हुए कहा था कि शिवकुमार काफी प्रभावशाली व्यक्ति हैं। ऐसे में यदि उन्हें रिहा कर दिया जाता है तो वह सबूतों से छेड़छाड़ और गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं।

कौन हैं डीके शिवकुमार

कर्नाटक कांग्रेस के दिग्गज नेता डीके शिवकुमार कई बार अपनी पार्टी के लिए संकट मोचक की भूमिका भी निभा चुके हैं। साल 2017 में गुजरात राज्यसभा चुनाव, कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार को लेकर कई बार शिवकुमार महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं।