कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष के रूप में बढ़ेगा सोनिया गांधी का कार्यकाल, CWC की बैठक में हो सकता है जल्द निर्णय

sonia gandhi
संकट में गहलोत सरकार: सोनिया गांधी ने तीन नेताओं को राजस्थान भेजने का लिया फैसला, विधायकों से करेंगे बात

नई दिल्ली। राहुल गांधी को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग पार्टी के कई बड़े नेता कर चुके हैं। इसको लेकर समय समय पर पार्टी के भीतर से आवाज भी उठती है लेकिन राहुल गांधी इस जिम्मेदारी से दूरी बनाए हुए हैं। वहीं, इस बीच कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी का एक साल का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है।

Sonia Gandhis Term Will Increase As Congress Interim President May Be Decided Soon In Cwc Meeting :

पार्टी सूत्रों की माने तो सोनिया गांधी का कार्यकाल बढ़ाने के लिए जल्द ही सीडब्ल्यूसी की बैठक की जा सकती है। कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने कहा कि पार्टी के संविधान के अनुसार कार्यकाल के विस्तार के लिए बैठक की आवश्यक्ता होती है। पार्टी को अपना निर्णय चुनाव आयोग को सूचित करना होगा।

उन्होंने कहा कि महामारी को रोकने के लिए 25 मार्च से लागू कोरोनो वायरस लॉकडाउन के कारण नए अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू नहीं की जा सकी है। उनकी नियुक्ति के तुरंत बाद पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव हुए। उसके बाद झारखंड और दिल्ली में भी मतदान हुआ।

बता दें कि, सीडब्ल्यूसी ने पिछले साल 10 अगस्त को राहुल गांधी द्वारा अपना इस्तीफा वापस लेने से इनकार करने के बाद सोनिया गांधी को पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष के रूप में नामित किया था। राहुल गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ दिया था।

 

नई दिल्ली। राहुल गांधी को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग पार्टी के कई बड़े नेता कर चुके हैं। इसको लेकर समय समय पर पार्टी के भीतर से आवाज भी उठती है लेकिन राहुल गांधी इस जिम्मेदारी से दूरी बनाए हुए हैं। वहीं, इस बीच कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी का एक साल का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। पार्टी सूत्रों की माने तो सोनिया गांधी का कार्यकाल बढ़ाने के लिए जल्द ही सीडब्ल्यूसी की बैठक की जा सकती है। कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने कहा कि पार्टी के संविधान के अनुसार कार्यकाल के विस्तार के लिए बैठक की आवश्यक्ता होती है। पार्टी को अपना निर्णय चुनाव आयोग को सूचित करना होगा। उन्होंने कहा कि महामारी को रोकने के लिए 25 मार्च से लागू कोरोनो वायरस लॉकडाउन के कारण नए अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू नहीं की जा सकी है। उनकी नियुक्ति के तुरंत बाद पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव हुए। उसके बाद झारखंड और दिल्ली में भी मतदान हुआ। बता दें कि, सीडब्ल्यूसी ने पिछले साल 10 अगस्त को राहुल गांधी द्वारा अपना इस्तीफा वापस लेने से इनकार करने के बाद सोनिया गांधी को पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष के रूप में नामित किया था। राहुल गांधी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ दिया था।