सोनिया-पवार की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में अभी भी सस्पेंस बरकरार

Sonia-Pawar
सोनिया-पवार की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर नही हुई कोई बातचीत

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बीच एक बैठक हुई। यह बैठक लगभग 50 मिनट तक चली। बैठक के तुरन्त बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रेसवार्ता की। शरद पवार ने एक चौकाने वाला बयान दिया, उन्होने कहा कि इस दौरान सरकार बानाने को लेकर कोई बातचीत ही नही हुई।

Sonia Pawar Meeting Over No Talks On Forming Government In Maharashtra :

शरद पवार के साथ सोनिया की इस बैठक को लेकर काफी चर्चांए थीं कि इस बैठक में कोई निर्णय निकल सकता है लेकिन जैसे ही शरद पवार ने चर्चा के तुरन्त बाद प्रेस वार्ता की तो एकबार फिर महाराष्ट्र में सरकार बनने को लेकर सस्पेंस बरकरार हो गया। शरद पवार ने कहा कि इस दौरान सोनिया से उनकी सरकार बनाने के बारे में कोई बातचीत नही हुई, उन्होने सिर्फ सोनिया को महाराष्ट्र के हालातों से रूबरू करवाया।

शरद पवार का कहना है कि अभी वो अपने सहयोगियों से बात करेंग उसके बाद ही कोई निर्णय लेंगे। हम महाराष्ट्र की राजनीतिक गतिविधियों के बारे में पूरी जानकारी ले रहे हैं। महाराष्ट्र में हमने इस बार चुनाव में अन्य पार्टियों से भी समझौता किया था, अभी उनसे भी बातचीत करेंगे तभी किसी तह पर पंहुच पायेंगे। हमारी पार्टियों के भी कुछ वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से भी अभी बातचीत बाकी है।

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बीच एक बैठक हुई। यह बैठक लगभग 50 मिनट तक चली। बैठक के तुरन्त बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रेसवार्ता की। शरद पवार ने एक चौकाने वाला बयान दिया, उन्होने कहा कि इस दौरान सरकार बानाने को लेकर कोई बातचीत ही नही हुई। शरद पवार के साथ सोनिया की इस बैठक को लेकर काफी चर्चांए थीं कि इस बैठक में कोई निर्णय निकल सकता है लेकिन जैसे ही शरद पवार ने चर्चा के तुरन्त बाद प्रेस वार्ता की तो एकबार फिर महाराष्ट्र में सरकार बनने को लेकर सस्पेंस बरकरार हो गया। शरद पवार ने कहा कि इस दौरान सोनिया से उनकी सरकार बनाने के बारे में कोई बातचीत नही हुई, उन्होने सिर्फ सोनिया को महाराष्ट्र के हालातों से रूबरू करवाया। शरद पवार का कहना है कि अभी वो अपने सहयोगियों से बात करेंग उसके बाद ही कोई निर्णय लेंगे। हम महाराष्ट्र की राजनीतिक गतिविधियों के बारे में पूरी जानकारी ले रहे हैं। महाराष्ट्र में हमने इस बार चुनाव में अन्य पार्टियों से भी समझौता किया था, अभी उनसे भी बातचीत करेंगे तभी किसी तह पर पंहुच पायेंगे। हमारी पार्टियों के भी कुछ वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से भी अभी बातचीत बाकी है।