1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. बेटे की हत्या कर थाने पहुंचा बेरोजगारी से तंग पिता, कहा- फेंक आया नदी में, खत्म कर दिया वंश

बेटे की हत्या कर थाने पहुंचा बेरोजगारी से तंग पिता, कहा- फेंक आया नदी में, खत्म कर दिया वंश

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

बालाघाट: मध्यप्रदेश में एक हैवान पिता ने अपने ही 8 वर्षीय मासूम बेटे के दोनों हाथ बांधकर वैनगंगा नदी में डुबोकर मौत के घाट उतार दिया। मामला बालाघाट का है। इस खौफनाक घटना को अंजाम देने के बाद पिता घर गया और बेटे को डूबोने की बात बताई। हैरानी की बात ये है कि उसने फिर थाने जाकर खुद की पुलिस को हत्या करने की जानकारी दी और उसने कबूल किया कि उसने अपने बेटे को डूबोकर मार डाला है और अपना वंश खत्म कर दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, पिता ने घटना को उस समय अंजाम दिया जब वह अपने बेटे को लेकर बाजार गया था। आरोपी की बड़ी बेटी का जन्मदिन था। केक लेने के बहाने पिता बेटे को साथ ले गया, जहां उसने पहले अपने बैटे के दोनों हाथ अपनी बेल्ट से बांध दिए और वैनगंगा नदी में डुबोकर मार दिया। पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर शव बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। बेटी केक का इंतजार कर रही थी लेकिन उसे खबर मिली कि उसका भाई अब इस दुनिया में नहीं रहा। मौत की खबर सुनकर पूरे घर में मातम छा गया। पूरे परिवार का रो-रो कर बुरा हाल है। वहीं, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

बालाघाट के टी आई (टाउन इंस्पेक्टर) विजय परस्ते का कहना है कि सुनील जायसवाल नाम के एक शख्स ने अपने बेटे को नदी में डुबोकर मार दिया। आरोपी ने बताया कि उसके पास कोई काम नहीं था। वह अपने परिवार को पालने में सक्षम नहीं था न ही कोई काम था। जिसके कारण उसने अपने बेटे की हत्या की है। उसने कहा कि बेटे को मारकर वह अपना वंश खत्म करना चाहता था। वहीं, परिजनों का कहना है कि आरोपी के पास काम नहीं होने के कारण अक्सर तनाव में रहता था। पुलिस ने आगे की जांच शुरू कर दी है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...