नरम पड़ा तानाशाह किम जोंग, दक्षिण कोरिया के साथ बातचीत को तैयार

kim-jong

नई दिल्ली। दक्षिण कोरिया के साथ बिगड़े संबंधों को सुधारने के बीच उत्तर कोरिया बातचीत को तैयार हो गया है। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने कहा कि अगर दोनों देशों को बातचीत की संभावनाएं बनानी है तो उनके अधिकारियों की मुलाकात होनी बेहद जरूरी है।

South Korean Dictator Kim Jong Ready To Negotiate With South Korea :

उत्तर कोरिया के प्रवक्ता बाएक ताए हुआन ने कहा कि एजेंडे में प्योंगचांग ओलंपिक और अंतरकोरियाई संबंधों में सुधार का मामला शामिल होगा। बता दें कि उत्तर कोरिया द्वारा कई आईसीबीएम और उसके छठे परमाणु परीक्षण समेत 2017 में कई मिसाइल परीक्षण करने से इलाके में तनाव बढ़ गया है।

वार्ता का यह प्रस्ताव ऐसे समय में सामने आया है, जब उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने नए साल के अपने भाषण में चेतावनी दी थी। किम ने कहा था, ‘मेरे पास एक परमाणु बटन है।

उत्तर कोरिया ओलंपिक खेलों के लिए अपने एथलीटों को भेजेगा दक्षिण कोरिया

दरअसल, दक्षिण कोरिया में विंटर ओलंपिक्स होने हैं और इसी वजह से इन युद्ध अभ्यासों पर विराम लगा दिए गए हैं। ऐसा माना जा रहा है कि अब दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच ‘हॉटलाइन’ फिर से शुरू होने जा रही है। बता दें 2016 में इस हॉटलाइन को बंद कर दिया गया था। बता दें 2016 में इस हॉटलाइन को बंद कर दिया गया था।

नई दिल्ली। दक्षिण कोरिया के साथ बिगड़े संबंधों को सुधारने के बीच उत्तर कोरिया बातचीत को तैयार हो गया है। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने कहा कि अगर दोनों देशों को बातचीत की संभावनाएं बनानी है तो उनके अधिकारियों की मुलाकात होनी बेहद जरूरी है।उत्तर कोरिया के प्रवक्ता बाएक ताए हुआन ने कहा कि एजेंडे में प्योंगचांग ओलंपिक और अंतरकोरियाई संबंधों में सुधार का मामला शामिल होगा। बता दें कि उत्तर कोरिया द्वारा कई आईसीबीएम और उसके छठे परमाणु परीक्षण समेत 2017 में कई मिसाइल परीक्षण करने से इलाके में तनाव बढ़ गया है।वार्ता का यह प्रस्ताव ऐसे समय में सामने आया है, जब उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने नए साल के अपने भाषण में चेतावनी दी थी। किम ने कहा था, 'मेरे पास एक परमाणु बटन है।उत्तर कोरिया ओलंपिक खेलों के लिए अपने एथलीटों को भेजेगा दक्षिण कोरियादरअसल, दक्षिण कोरिया में विंटर ओलंपिक्स होने हैं और इसी वजह से इन युद्ध अभ्यासों पर विराम लगा दिए गए हैं। ऐसा माना जा रहा है कि अब दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच 'हॉटलाइन' फिर से शुरू होने जा रही है। बता दें 2016 में इस हॉटलाइन को बंद कर दिया गया था। बता दें 2016 में इस हॉटलाइन को बंद कर दिया गया था।