गठबंधन पर बोले अखिलेश, इंजीनियरिंग का छात्र हूं, जरूरी नहीं हर प्रयोग सफल हो

akhilesh yadav
गठबंधन पर बोले अखिलेश, इंजीनियरिंग का छात्र हूं, जरूरी नहीं हर प्रयोग सफल हो

लखनऊ। लोकसभा चुनाव मे करारी शिकस्त के बाद उत्तर प्रदेश का सपा-बसपा गठबंधन टूटता नजर आ रहा है। बुधवार को समाजवादी पार्टी(सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि जरूरी नहीं कि हर प्रयोग सफल हो। उन्होंने कहा कि एक इंजीनियरिंग का छात्र होने के नाते उन्होंने यह प्रयोग किया था। ऐशबाग स्थित ईदगाह पर लोगों को मुबारकबाद देने पहुंचे अखिलेश ने कहा, “जब आप कुछ नया करते हैं तो भले ही सफलता न मिले, लेकिन काफी कुछ सीखने को मिलता है। यह जरूरी नहीं कि हर प्रयोग सफल हो।”

Sp Chief Akhilesh Yadav Said On Maha Gathbandhan Not All Experiments Are Successful :

गठबंधन टूटने के सवाल पर उन्होंने कहा, “मायावती जी के लिए जो बात मैंने पहले दिन कही थी कि उनका सम्मान हमारा सम्मान है, आज भी वहीं बात कहता हूं। अगर अब रास्ते खुले हैं तो आने वाले उपचुनावों में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से बात करके आगे की रणनीति पर चर्चा करूंगा।”

बताते चलें कि इससे पहले गाजीपुर मे भी अखिलेश यादव ने यही बात कही थी। उन्होंने कहा था, “गठबंधन टूटने के बारे में जानकारी नहीं है। अगर मायावती अकेले चुनाव लड़ने जा रही हैं तो सपा भी अपने नेताओं से बात करके अकेले ही चुनाव लड़ेगी। गठबंधन को लेकर यही कहूंगा कि अगर गठबंधन टूटा है तो उस पर बहुत सोच-समझकर विचार करूंगा। हम कुछ कहें, कोई कुछ कहे, आप आकलन करें। उपचुनाव की तैयारी सपा भी करेगी।”

लखनऊ। लोकसभा चुनाव मे करारी शिकस्त के बाद उत्तर प्रदेश का सपा-बसपा गठबंधन टूटता नजर आ रहा है। बुधवार को समाजवादी पार्टी(सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि जरूरी नहीं कि हर प्रयोग सफल हो। उन्होंने कहा कि एक इंजीनियरिंग का छात्र होने के नाते उन्होंने यह प्रयोग किया था। ऐशबाग स्थित ईदगाह पर लोगों को मुबारकबाद देने पहुंचे अखिलेश ने कहा, "जब आप कुछ नया करते हैं तो भले ही सफलता न मिले, लेकिन काफी कुछ सीखने को मिलता है। यह जरूरी नहीं कि हर प्रयोग सफल हो।" गठबंधन टूटने के सवाल पर उन्होंने कहा, "मायावती जी के लिए जो बात मैंने पहले दिन कही थी कि उनका सम्मान हमारा सम्मान है, आज भी वहीं बात कहता हूं। अगर अब रास्ते खुले हैं तो आने वाले उपचुनावों में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से बात करके आगे की रणनीति पर चर्चा करूंगा।" बताते चलें कि इससे पहले गाजीपुर मे भी अखिलेश यादव ने यही बात कही थी। उन्होंने कहा था, "गठबंधन टूटने के बारे में जानकारी नहीं है। अगर मायावती अकेले चुनाव लड़ने जा रही हैं तो सपा भी अपने नेताओं से बात करके अकेले ही चुनाव लड़ेगी। गठबंधन को लेकर यही कहूंगा कि अगर गठबंधन टूटा है तो उस पर बहुत सोच-समझकर विचार करूंगा। हम कुछ कहें, कोई कुछ कहे, आप आकलन करें। उपचुनाव की तैयारी सपा भी करेगी।"