अखिलेश यादव बोले-सपा सरकार में नहीं दिया गया DHFL को पैसा, ​विपक्ष से डरकर सीबीआई को सौंपी जांच

अखिलेश यादव बोले-सपा सरकार में नहीं दिया गया DHFL को पैसा, घबराई सरकार ने ​विपक्ष से डरकर सीबीआई को सौंपी जांच
अखिलेश यादव बोले-सपा सरकार में नहीं दिया गया DHFL को पैसा, घबराई सरकार ने ​विपक्ष से डरकर सीबीआई को सौंपी जांच

लखनऊ। यूपीपीसीएल में हुए पीएफ घोटाले को लेकर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने पीएफ घोटाले को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की है। उन्होंने यूपीपीसीएल पीएफ घोटाले के लिए सीएम योगी को जिम्मेदार ठहराया है। अखिलेश ने कहा है कि पूरे मामले की जांच हाइकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से कराई जानी चाहिए।

Sp Government Attacked Yogi Government :

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, योगी सरकार विपक्ष के सवालों से घबराई हुई है, जिसके कारण उसने रातों रात इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश कर दी। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में डिफॉल्टर कंपनी डीएचएफएल को एक भी पैसा नहीं दिया गया। यह बात एफआईआर में स्पष्ट है कि पैसा कब दिया गया।

अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ को कमजोर मुख्यमंत्री बताया और कहा कि वह मंत्री को तो हटाना चाहते हैं लेकिन हटा नहीं सकते। वह इतने कमजोर मुख्यमंत्री हैं कि जिन्हें हटा देना चाहिए वो कुर्सी पर बैठे हुए हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि 300 से ज्यादा विधायक मुख्यमंत्री को पसंद नहीं करते। इस आधार पर उन्हें खुद इस्तीफा दे देना चाहिए।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, आज सबसे ज्यादा महंगी ​बिजली यूपी में है। सरकार को इस पर जवाब देना चाहिए और दोषियों पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। आज यूपी की कानून व्यवस्था सबसे खराब दौर में है। सराफा व्यापारियों से लूट हो रही है। हर रोज हत्याएं हो रही हैं लेकिन मुख्यमंत्री को कोई फर्क नहीं पड़ता।

लखनऊ। यूपीपीसीएल में हुए पीएफ घोटाले को लेकर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने पीएफ घोटाले को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की है। उन्होंने यूपीपीसीएल पीएफ घोटाले के लिए सीएम योगी को जिम्मेदार ठहराया है। अखिलेश ने कहा है कि पूरे मामले की जांच हाइकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, योगी सरकार विपक्ष के सवालों से घबराई हुई है, जिसके कारण उसने रातों रात इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश कर दी। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में डिफॉल्टर कंपनी डीएचएफएल को एक भी पैसा नहीं दिया गया। यह बात एफआईआर में स्पष्ट है कि पैसा कब दिया गया। अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ को कमजोर मुख्यमंत्री बताया और कहा कि वह मंत्री को तो हटाना चाहते हैं लेकिन हटा नहीं सकते। वह इतने कमजोर मुख्यमंत्री हैं कि जिन्हें हटा देना चाहिए वो कुर्सी पर बैठे हुए हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि 300 से ज्यादा विधायक मुख्यमंत्री को पसंद नहीं करते। इस आधार पर उन्हें खुद इस्तीफा दे देना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, आज सबसे ज्यादा महंगी ​बिजली यूपी में है। सरकार को इस पर जवाब देना चाहिए और दोषियों पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। आज यूपी की कानून व्यवस्था सबसे खराब दौर में है। सराफा व्यापारियों से लूट हो रही है। हर रोज हत्याएं हो रही हैं लेकिन मुख्यमंत्री को कोई फर्क नहीं पड़ता।