CM योगी को ‘अजय सिंह बिष्ट’ कहने पर सपा नेता पर मुकदमा

IP Singh
CM योगी को 'अजय सिंह बिष्ट' कहने पर सपा नेता पर मुकदमा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को अजय सिंह बिष्ट कहने पर सपा नेता आई.पी. सिंह के खिलाफ वाराणसी में आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। यह मुकदमा अधिवक्ता कमलेश चंद्र त्रिपाठी के द्वावार शिवपुर थाने में दर्ज कराई गयी है। मुदमा दर्ज होने के बाद सपा प्रवक्ता आई पी सिंह ने कहा यूपी पुलिस ने सीरिया को भी पीछे छोड़ दिया।

Sp Leader Sues Cm Yogi For Calling Him Ajay Singh Bisht :

 

हैदराबाद में हुई हैवानियत के मामले में ट्वीट करते हुए सपा प्रवक्ता आई पी सिंह ने कहा था कि, ‘काश संसद के अंदर फूट-फूट कर रोने वाले मुख्यमंत्री श्री अजय सिंह विष्ट यूपी की विधानसभा में बहन बेटियों के लिए एक बार फूट फूट कर रोते और प्रायश्चित करते कि आज उनके सीएम रहते बहन बेटियों के साथ बलात्कार होने के बाद हत्या हो रही है और उनकी पुलिस FIR तक नही दर्ज करती’

अधिवक्ता कमलेश चंद्र त्रिपाठी ने कहा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संत परंपरा के अनुसार जीवन जीते हैं. गोरक्ष पीठ के पीठाधीश्वर होने के बावजूद आई.पी. सिंह सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ की जगह अजय सिंह बिष्ट लिखते हैं। अधिवक्ता का आरोप है कि आई पी सिंह ने संतों और उनकी परंपराओं के साथ सनातन धर्म में आस्था रखने वालों की भावनाओं को भी ठेस पहुंचाया है। इसके बाद आई पी सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होने कहा कि CM योगी को ‘अजय सिंह बिष्ट’ बोलने पर मेरे खिलाफ हुई FIR पर देश भर से मेरे पास फोन और मैसेज आदि आए। सब यह जान कर हैरान थे कि उत्तरप्रदेश पुलिस दबाव में कुछ भी करने पर मजबूर है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को अजय सिंह बिष्ट कहने पर सपा नेता आई.पी. सिंह के खिलाफ वाराणसी में आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। यह मुकदमा अधिवक्ता कमलेश चंद्र त्रिपाठी के द्वावार शिवपुर थाने में दर्ज कराई गयी है। मुदमा दर्ज होने के बाद सपा प्रवक्ता आई पी सिंह ने कहा यूपी पुलिस ने सीरिया को भी पीछे छोड़ दिया।   हैदराबाद में हुई हैवानियत के मामले में ट्वीट करते हुए सपा प्रवक्ता आई पी सिंह ने कहा था कि, 'काश संसद के अंदर फूट-फूट कर रोने वाले मुख्यमंत्री श्री अजय सिंह विष्ट यूपी की विधानसभा में बहन बेटियों के लिए एक बार फूट फूट कर रोते और प्रायश्चित करते कि आज उनके सीएम रहते बहन बेटियों के साथ बलात्कार होने के बाद हत्या हो रही है और उनकी पुलिस FIR तक नही दर्ज करती' अधिवक्ता कमलेश चंद्र त्रिपाठी ने कहा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संत परंपरा के अनुसार जीवन जीते हैं. गोरक्ष पीठ के पीठाधीश्वर होने के बावजूद आई.पी. सिंह सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ की जगह अजय सिंह बिष्ट लिखते हैं। अधिवक्ता का आरोप है कि आई पी सिंह ने संतों और उनकी परंपराओं के साथ सनातन धर्म में आस्था रखने वालों की भावनाओं को भी ठेस पहुंचाया है। इसके बाद आई पी सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होने कहा कि CM योगी को ‘अजय सिंह बिष्ट’ बोलने पर मेरे खिलाफ हुई FIR पर देश भर से मेरे पास फोन और मैसेज आदि आए। सब यह जान कर हैरान थे कि उत्तरप्रदेश पुलिस दबाव में कुछ भी करने पर मजबूर है।