उन्नाव दुष्कर्म : सपा नेता के भाई का निकला सड़क हादसे में पकड़ा गया ट्रक, धरने पर बैठे पीड़ित परिजन

kuldeep singh
उन्नाव दुष्कर्म : सपा नेता के भाई का निकला सड़क हादसे में पकड़ा गया ट्रक, धरने पर बैठे पीड़ित परिजन

लखनऊ। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे में पुलिस की जांच में एक और खुलासा हुआ है। जांच में पता लगा ​कि हादसे में पकड़ा गया ट्रक सपा नेता के भाई का है। पुलिस का कहना है कि, ट्रक समाजवादी पार्टी नेता नंदू पाल के बड़े भाई देवेंद्र पाल का है। वहीं, हादसे के बाद से देवेंद्र पाल के मकान में ताला बंद है। उधर, पीड़ित परिजन ट्रामा सेंटर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं।

Sp Leaders Brother Gets Truck Caught In Road Accident :

उन्होंने सरकार से रायबरेली जेल में बंद चाचा की पैरोल की मांग की है। उनका कहना है कि, पैरोल मिलने के बाद ही हादसे में मृत शवों का अंतिम संस्कार किया जायेगा। हादसे के बाद बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है। इस दुर्घटना में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता और उनके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जबकि इस हादसे में उनकी दो महिला रिश्तेदारों की मौत हो गई थी।

आरोपियों पर दुष्कर्म पीड़िता के चाचा महेश सिंह की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया, जो रायबरेली जेल में बंद हैं। हादसे में मृत महिलाओं में से एक उन्नाव दुष्कर्म मामले की गवाह थी। दुष्कर्म पीड़िता की मां ने दावा किया कि यह दुर्घटना उनकी बेटी और अन्य को खत्म करने की एक साजिश थी।

उधर, पीड़ित परिजनों ने मृतक चाची के अंतिम संस्कार से मना कर दिया है। इस बीच परिजन लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। परिजनों का कहना है कि जब तक पीड़िता के चाचा को पैरोल नहीं मिलती है, तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा।

लखनऊ। उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे में पुलिस की जांच में एक और खुलासा हुआ है। जांच में पता लगा ​कि हादसे में पकड़ा गया ट्रक सपा नेता के भाई का है। पुलिस का कहना है कि, ट्रक समाजवादी पार्टी नेता नंदू पाल के बड़े भाई देवेंद्र पाल का है। वहीं, हादसे के बाद से देवेंद्र पाल के मकान में ताला बंद है। उधर, पीड़ित परिजन ट्रामा सेंटर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। उन्होंने सरकार से रायबरेली जेल में बंद चाचा की पैरोल की मांग की है। उनका कहना है कि, पैरोल मिलने के बाद ही हादसे में मृत शवों का अंतिम संस्कार किया जायेगा। हादसे के बाद बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया है। इस दुर्घटना में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता और उनके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जबकि इस हादसे में उनकी दो महिला रिश्तेदारों की मौत हो गई थी। आरोपियों पर दुष्कर्म पीड़िता के चाचा महेश सिंह की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया, जो रायबरेली जेल में बंद हैं। हादसे में मृत महिलाओं में से एक उन्नाव दुष्कर्म मामले की गवाह थी। दुष्कर्म पीड़िता की मां ने दावा किया कि यह दुर्घटना उनकी बेटी और अन्य को खत्म करने की एक साजिश थी। उधर, पीड़ित परिजनों ने मृतक चाची के अंतिम संस्कार से मना कर दिया है। इस बीच परिजन लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। परिजनों का कहना है कि जब तक पीड़िता के चाचा को पैरोल नहीं मिलती है, तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा।