सपा नेता का बयान- सत्ता में हुई वापसी तो CAA का विरोध करने वालों को देंगे पेंशन

Ram Govind Chaudhary
सपा नेता का बयान- सत्ता में हुई वापसी तो CAA का विरोध करने वालों को देंगे पेंशन

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लगातार ​देश में बीजेपी की विपक्षी पार्टियां विरोध प्रदर्शन कर रही है। वहीं यूपी में भी सपा और कांग्रेस के बीच होड़ लगी है कि कौन प्रदर्शनकारियों का सबसे ज्यादा समर्थन करता है। हाल ही में प्रियंका गांधी ने प्रदर्शनकारियों के समर्थन में उतरकर खूब सुर्खियां बटोरी थी, ऐसे में भला सपा क्यों पीछे रहने वाली थी। सपा नेता ने भी प्रदर्शनकारियों से वादा किया है कि अगर यूपी में उनकी सत्ता में वापसी होती है तो वो सीएए का विरोध करने वालों को पेंशन देंगे।

Sp Leaders Statement If Return To Power Pension To Those Opposing Caa :

सपा नेता राम गोविन्द चौधरी ने कहा कि सपा की यूपी में सरकार आती है तो जिन लोगों को सीएए का विरोध करने पर जेल हुई है या फिर इसे लेकर हुए संघर्ष में किसी की मौत हुई है, उनके परिजन को मुआवजा दिया जाएगा। उन्होने कहा कि प्रदर्शनकारियों को पेंशन भी दी जायेगी। उन्होने इस दौरान बांग्लादेशियों का जिक्र करते हुए कहा ‘जो हमारी शरण में आ गया, वह हमारी शरण में है। हम सबकी रक्षा करने वाले लोग हैं।

राम गोविंदचौधरी ने कहा नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों को लोकतंत्र रक्षा सेनानियों की तरह संविधान रक्षक के पद से नवाजेंगे और उनको पेंशन भी देंगे। उनका कहना है कि जिन लोगों ने संविधान बचाने का काम किया है, लोकतंत्र को बचाने के लिए आंदोलन किया है वो ये सम्मान पाने के हकदार हैं। उनका आरोप है कि मोदी सरकार सीएए, एनआरसी और एनपीआर के बहाने लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है। उन्होने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि आजकल देश में जो भी व्यक्ति सरकार के इस कदम पर सवाल खड़ा करता है तो उसे पाकिस्तान चले जाने को कह दिया जाता है।

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लगातार ​देश में बीजेपी की विपक्षी पार्टियां विरोध प्रदर्शन कर रही है। वहीं यूपी में भी सपा और कांग्रेस के बीच होड़ लगी है कि कौन प्रदर्शनकारियों का सबसे ज्यादा समर्थन करता है। हाल ही में प्रियंका गांधी ने प्रदर्शनकारियों के समर्थन में उतरकर खूब सुर्खियां बटोरी थी, ऐसे में भला सपा क्यों पीछे रहने वाली थी। सपा नेता ने भी प्रदर्शनकारियों से वादा किया है कि अगर यूपी में उनकी सत्ता में वापसी होती है तो वो सीएए का विरोध करने वालों को पेंशन देंगे। सपा नेता राम गोविन्द चौधरी ने कहा कि सपा की यूपी में सरकार आती है तो जिन लोगों को सीएए का विरोध करने पर जेल हुई है या फिर इसे लेकर हुए संघर्ष में किसी की मौत हुई है, उनके परिजन को मुआवजा दिया जाएगा। उन्होने कहा कि प्रदर्शनकारियों को पेंशन भी दी जायेगी। उन्होने इस दौरान बांग्लादेशियों का जिक्र करते हुए कहा 'जो हमारी शरण में आ गया, वह हमारी शरण में है। हम सबकी रक्षा करने वाले लोग हैं। राम गोविंदचौधरी ने कहा नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों को लोकतंत्र रक्षा सेनानियों की तरह संविधान रक्षक के पद से नवाजेंगे और उनको पेंशन भी देंगे। उनका कहना है कि जिन लोगों ने संविधान बचाने का काम किया है, लोकतंत्र को बचाने के लिए आंदोलन किया है वो ये सम्मान पाने के हकदार हैं। उनका आरोप है कि मोदी सरकार सीएए, एनआरसी और एनपीआर के बहाने लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है। उन्होने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि आजकल देश में जो भी व्यक्ति सरकार के इस कदम पर सवाल खड़ा करता है तो उसे पाकिस्तान चले जाने को कह दिया जाता है।