सपा अध्यक्ष ने सरकार के दावों को बताया झूठ, कहा चारों तरफ लूटपाट और असुरक्षा का माहौल

akhilesh yadav
सपा अध्यक्ष ने सरकार के दावों को बताया झूठ, कहा चारों तरफ लूटपाट और असुरक्षा का माहौल

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश की बीजेपी सरकार के सारे दावों पर सवालिया निशान लगाया है। उन्होने कहा कि डबल इंजन वाली सरकार बैलगाड़ी की रफ्तार में चल रही हैं। लिहाजा प्रदेश में अराजकता, लूटपाट और असुरक्षा का माहौल है। यहीं शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र आज प्रदेश की हालत दयनीय है।

Sp President Told The Governments Claims A Lie Said Looting And Insecurity All Around :

इस दौरान सपा मुखिया ने कहा कि ओडीएफ के आंकड़े झूठे हैं। इस उदाहरण देते हुए उन्होने कहा कि बलिया में मानक घटाए गए हैं। सरकार एक्सप्रेस वे के नाम पर मानकों से लगातार समझौता कर रही है। उत्तर प्रदेश में व्यापारी असुरक्षित, सरकार आंकड़े छुपा रही है। वहीं आधुनिकीकरण राग अलापने वाली सरकार का इसमें थोड़ा सा भी योगदान नहीं है। अखिलेश ने कहा कि भ्रष्टाचार में लिप्त कई मंत्री हटाए गए हैं, जिससे साबित होता है कि जीरो टॉलरेंस फेल हो गया। किसानों की बात करते हुए उन्होने कहा कि कर्जमाफी से कोई लाभ नहीं मिला, आलम ये है किसानों को आत्महत्या तक करनी पड़ी।

उन्होने कहा कि कर्जमाफी के नाम पर सरकार ने किसानों को धोखा दिया है। अर्थव्यवस्था औंधे मुहं गिरी पड़ी है। अखिलेश ने सवाल किया कि सरकार साफ करे कि इकोनामी 1 ट्रिलियन डॉलर कैसे होगी। उन्होने पूछा कि सरकार ये बताए कि 2017 के बाद सरकार ने किस इंडस्ट्री को सहूलित दी।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश की बीजेपी सरकार के सारे दावों पर सवालिया निशान लगाया है। उन्होने कहा कि डबल इंजन वाली सरकार बैलगाड़ी की रफ्तार में चल रही हैं। लिहाजा प्रदेश में अराजकता, लूटपाट और असुरक्षा का माहौल है। यहीं शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र आज प्रदेश की हालत दयनीय है। इस दौरान सपा मुखिया ने कहा कि ओडीएफ के आंकड़े झूठे हैं। इस उदाहरण देते हुए उन्होने कहा कि बलिया में मानक घटाए गए हैं। सरकार एक्सप्रेस वे के नाम पर मानकों से लगातार समझौता कर रही है। उत्तर प्रदेश में व्यापारी असुरक्षित, सरकार आंकड़े छुपा रही है। वहीं आधुनिकीकरण राग अलापने वाली सरकार का इसमें थोड़ा सा भी योगदान नहीं है। अखिलेश ने कहा कि भ्रष्टाचार में लिप्त कई मंत्री हटाए गए हैं, जिससे साबित होता है कि जीरो टॉलरेंस फेल हो गया। किसानों की बात करते हुए उन्होने कहा कि कर्जमाफी से कोई लाभ नहीं मिला, आलम ये है किसानों को आत्महत्या तक करनी पड़ी। उन्होने कहा कि कर्जमाफी के नाम पर सरकार ने किसानों को धोखा दिया है। अर्थव्यवस्था औंधे मुहं गिरी पड़ी है। अखिलेश ने सवाल किया कि सरकार साफ करे कि इकोनामी 1 ट्रिलियन डॉलर कैसे होगी। उन्होने पूछा कि सरकार ये बताए कि 2017 के बाद सरकार ने किस इंडस्ट्री को सहूलित दी।