गांधी जयंती पर कैदिया को सरकार देगी विशेष माफी, मंत्रीमंडल में पास हुआ प्रस्ताव 

mahatma-gandhi
गांधी जयंती पर कैदिया को सरकार देगी विशेष माफी, मंत्रीमंडल में पास हुआ प्रस्ताव 

Special Forgiveness To Prisionars Will Be Given At Mahatma Gandhis 150th Birth Anniversary

नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वी जयंवी के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विभिन्न जेलों में बंद कैदियों को विशेष माफी देने के प्रस्ताव को बुधवार को मंजूरी दे दी। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यहां आयोजित एक प्रेस कांन्फ्रेंस में कहा कि “विशेष माफी पाने वाले कैदियों को तीन चरणों में रिहा किया जाएगा। पहले चरण में कैदियों को दो अक्टूबर को, दूसरे चरण में कैदियों को 10 अप्रैल, 2019 (चम्पारण सत्याग्रह की वर्षगांठ) को रिहा किया जाएगा जबकि तीसरे चरण में कैदियों को दो अक्टूबर, 2019 (महात्मा गांधी की जयंती) को आजाद किया जाएगा”

रिहा होने वाले कैदियों के बारे में बताया कि महिला कैदी, किन्नर कैदी और 60 साल से उपर के पुरूष कैदी, जिन्होने अपनी अपनी 50 फीसदी वास्तविक सजा अवधि पूरी कर ली हो। इसके ऐसे दिव्यांग/शारीरिक रूप से 70 प्रतिशत या इससे अधिक अक्षमता वाले कैदी, जिनने अपनी 50 फीसदी वास्तविक सजा अवधि पूरी कर ली हो। ऐसे दोष सिद्ध कैदी जिनने अपनी दो-तिहाई (66 फीसदी) वास्तविक सजा अवधि पूरी कर ली हो शामिल हैं” उन्हे रिहा कर दिया जाएगा।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि “ऐसे कैदियों को विशेष माफी नहीं दी जाएगी, जो मृत्युदंड की सजा का सामना कर रहे हैं, अथवा जिनकी मृत्युदंड की सजा को आजीवन कारावास में बदल दिया गया है। इसके अलावा दहेज मृत्यु, दुष्कर्म, मानव तस्करी और पोटा, यूएपीए, टाडा, एफआईसीएन, पोस्को एक्ट, धन शोधन, फेमा, एनडीपीएस, भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम आदि के दोषियों को भी इसमें शामिल नहीं किया गया है।”

नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वी जयंवी के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विभिन्न जेलों में बंद कैदियों को विशेष माफी देने के प्रस्ताव को बुधवार को मंजूरी दे दी। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यहां आयोजित एक प्रेस कांन्फ्रेंस में कहा कि "विशेष माफी पाने वाले कैदियों को तीन चरणों में रिहा किया जाएगा। पहले चरण में कैदियों को दो अक्टूबर को, दूसरे चरण में कैदियों को 10 अप्रैल, 2019 (चम्पारण सत्याग्रह…