1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. नेशनल कांफ्रेंस और बीजेपी गठबंधन को लेकर अटकल तेज, उमर अब्दुल्ला और रविंद्र रैना के ट्वीट से बढ़ी हलचल

नेशनल कांफ्रेंस और बीजेपी गठबंधन को लेकर अटकल तेज, उमर अब्दुल्ला और रविंद्र रैना के ट्वीट से बढ़ी हलचल

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 (Article 370 in Jammu and Kashmir) की समाप्ति के बाद से अब तक वहां चुनाव नहीं हुए हैं। इस साल के अंत या फिर अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) होने तय हैं। इसी बीच नेशनल कांफ्रेंस (National Conference) और भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के गठबंधन को लेकर अटकलबाजियां होने लगी हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद-370 (Article 370 in Jammu and Kashmir) की समाप्ति के बाद से अब तक वहां चुनाव नहीं हुए हैं। इस साल के अंत या फिर अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections)होने तय हैं। इसी बीच नेशनल कांफ्रेंस (National Conference) और भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के गठबंधन को लेकर अटकलबाजियां होने लगी हैं। लोगों ने इसके लिए नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) और बीजेपी (BJP)के प्रदेश अध्यक्ष रविंदर रैना (Ravindra Raina) के ट्विटर पर हुए संवाद का सहारा लिया है।

पढ़ें :- Breaking-अशोक गहलोत दिल्ली निकलने से पहले देंगे इस्तीफा? राजभवन जाने की सूचना से अटकलें तेज

उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah)  ने जम्म-कश्मीर (Jammu and Kashmir) बीजेपी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष के एक बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शुक्रवार को कहा कि न तो राजनीतिक विरोधी एक-दूसरे के दुश्मन होता हैं और न ही राजनीति विभाजन और नफरत के लिए है। उनकी इन टिप्पणियों को ट्विटर पर लोगों ने हाथों हाथ लिया। एक यूजर ने इसे नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच पिछले दरवाजे से समझौता करने का संकेत करार दिया है।

पढ़ें :- सीमांचल में अमित शाह का आज दूसरा दिन, लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बन रही अहम रणनीति

बता दें कि एक वीडियो में जम्मू और कश्मीर (Jammu and Kashmir) भाजपा प्रमुख रविंदर रैना (BJP chief Ravinder Raina) ने उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah)  को केंद्र शासित प्रदेश के शीर्ष राजनीतिक नेताओं में एक रत्न करार दिया है। रैना ने कहा कि जब मैं उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah)  के साथ विधानसभा का सदस्य बना तो हमने एक इंसान के रूप में देखा कि उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah)  जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir)  के शीर्ष राजनीतिक नेताओं में एक रत्न हैं। इसलिए हम दोनों दोस्त भी हैं।

उन्होंने कहा कि जब वह कोरोना से संक्रमित हुए थे तो उनका हाल जानने वालों में उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) पहले व्यक्ति थे। उन्होंने फोन कर उनका हाल जाना था। रैना के ट्वीट का जवाब देते हुए उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) ने कहा कि राजनीतिक रूप से असहमत होने पर राजनेताओं को व्यक्तिगत रूप से एक-दूसरे से नफरत करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि राजनीति विभाजन और नफरत के बारे में क्यों है?

राजनीति यह कहां कहता है कि राजनीतिक रूप से असहमत होने के लिए हमें व्यक्तिगत रूप से एक-दूसरे से नफरत करनी होगी? मेरे राजनीतिक विरोधी हैं, मेरे दुश्मन नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मैं रविंदर रैना (Ravindra Raina)  के इन शब्दों के लिए आभारी हूं। मुझे खुशी है कि ये शब्द हमें एक-दूसरे का विरोध करने से नहीं रोकेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...