बीजेपी के व्हिप से अटकलें हुईं तेज, क्या संसद में आज कुछ बड़ा करने वाली है मोदी सरकार!

modi
बीजेपी के व्हिप से अटकलें हुईं तेज, क्या संसद में आज कुछ बड़ा करने वाली है मोदी सरकार!

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अपने राज्यसभा सांसदों को आज (मंगलवार) सदन में उपस्थित रहने के लिए व्हिप जारी किया है। इस व्हिप के बाद अटकलें तेज हो गईं कि मोदी सरकार (Modi Govt) मंगलवार को राज्यसभा में क्या कोई विधेयक लाने वाली है। ये मामला इसलिए भी खास है क्योंकि आज दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने वाले हैं, वहीं बजट सत्र के पहले चरण का आज आखिरी दिन है। बता दें कि मंगलवार को राज्यसभा में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण बजट पर उठाए गए सवालों का जवाब भी देंगी।

Speculations Intensified By Bjps Whip Modi Government Is Going To Do Something Big Again Today :

बीजेपी ने तीन लाइन के व्हिप में सरकार के रुख का समर्थन करने के लिए सांसदों से उपस्थित रहने को कहा है। ऐसे में क्या सांसदों को किसी विधेयक पर वोटिंग के लिए उपस्थित रहने को कहा है या फिर बजट पर निर्मला के जवाब का समर्थन देने से ही मामला जुड़ा है, इसको लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं।

45 विधेयक पास कराना था लक्ष्य

अटकलें इसलिए भी तेज हैं क्योंकि इस बजट सत्र के शुरू होने से पहले ही सरकार बता चुकी है कि उसका लक्ष्य 45 विधेयक पास कराना है। मगर पहले चरण के आखिरी दिन यानी 11 फरवरी को सरकार कौन सा विधेयक पेश करेगी, इस पर कोई खुलकर बोलने को तैयार नहीं। पार्टी के ही लोगों को इस बारे में पुख्ता जानकारी नहीं है।

क्या आएगा जनसंख्या नियंत्रण पर विधेयक?

गौरतलब है कि साल 2018 में एससी, एसटी कानून में सुप्रीम कोर्ट की ओर से बदलाव किए जाने पर देशभर में हिंसक प्रदर्शन हुए थे, जिसके बाद मोदी सरकार ने कानून बनाकर कोर्ट के फैसले को पलट दिया था। बीजेपी नेता अपने बयानों में जिस तरह से जनसंख्या नियंत्रण पर बयानबाजी करते हैं, माना जा रहा है कि जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए विधेयक लाया जा सकता है।

राज्यसभा में वित्त मंत्री बजट पर देंगी जवाब

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सदन में बजट 2020 पर शाम 4 बजे राज्यसभा जवाब देंगी। इससे पहले यह घोषणा की गई थी कि राज्यसभा में मंगलवार को लंच ब्रेक नहीं होगा। संसद के बजट सत्र का पहला भाग मंगलवार को पूरा होगा। 2 मार्च से अवकाश के बाद संसद फिर से शुरू होगा।

इससे पहले लोकसभा में भी भारतीय जनता पार्टी ने अपने सभी सांसदों को सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पर जवाब देंगे। दावा किया जा रहा है कि मंगलवार को बजट पास किया जाएगा, इसलिए व्हिप जारी किया जा रहा है। वहीं जानकारों का कहना है कि बीजेपी कुछ बड़ा फैसला दोनों सदनों में कर सकती है।

बीजेपी के व्हिप से बदले हैं कानून!

भारतीय जनता पार्टी की ओर से जब भी संसद के दोनों सदनों में व्हिप जारी किया गया है, तब-तब कुछ बड़ा फैसला लिया गया है। चाहे बात जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने की बात हो, नागरिकता कानून(सीएए) लाने की बात हो या तीन तलाक खत्म करने का फैसला हो, बीजेपी जब भी व्हिप लेकर आई है, देश की राजनीति में बड़ा बदलाव हुआ है।

राजनीतिक गलियारों में ऐसी चर्चा की जा रही है कि बीजेपी कुछ बड़ा फैसला मंगलवार को कर सकती है। हालांकि बीजेपी की ओर से अभी तक ऐसी कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। बीजेपी इससे पहले भी जब भी कुछ बड़ा फैसला लिया है, पहले उसकी चर्चा पार्टी करने से परहेज करती है।

क्या होता है व्हिप?

राजनीतिक पार्टियां व्हिप किसी महत्वपूर्ण बिल पर चर्चा, सदन में किसी बिल पर वोटिंग या बहस करने लिए जारी करती हैं। अगर कोई राजनीतिक पार्टी 3 लाइन का व्हिप जारी करती है, तो इसका मतलब होता है कि हर हाल में सदस्यों को सदन में मौजूद रहना होगा। अगर कोई सदस्य व्हिप का उल्लंघन करता है, तो उसकी सदस्यता खत्म की जा सकती है।

 

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अपने राज्यसभा सांसदों को आज (मंगलवार) सदन में उपस्थित रहने के लिए व्हिप जारी किया है। इस व्हिप के बाद अटकलें तेज हो गईं कि मोदी सरकार (Modi Govt) मंगलवार को राज्यसभा में क्या कोई विधेयक लाने वाली है। ये मामला इसलिए भी खास है क्योंकि आज दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे आने वाले हैं, वहीं बजट सत्र के पहले चरण का आज आखिरी दिन है। बता दें कि मंगलवार को राज्यसभा में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण बजट पर उठाए गए सवालों का जवाब भी देंगी। बीजेपी ने तीन लाइन के व्हिप में सरकार के रुख का समर्थन करने के लिए सांसदों से उपस्थित रहने को कहा है। ऐसे में क्या सांसदों को किसी विधेयक पर वोटिंग के लिए उपस्थित रहने को कहा है या फिर बजट पर निर्मला के जवाब का समर्थन देने से ही मामला जुड़ा है, इसको लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं। 45 विधेयक पास कराना था लक्ष्य अटकलें इसलिए भी तेज हैं क्योंकि इस बजट सत्र के शुरू होने से पहले ही सरकार बता चुकी है कि उसका लक्ष्य 45 विधेयक पास कराना है। मगर पहले चरण के आखिरी दिन यानी 11 फरवरी को सरकार कौन सा विधेयक पेश करेगी, इस पर कोई खुलकर बोलने को तैयार नहीं। पार्टी के ही लोगों को इस बारे में पुख्ता जानकारी नहीं है। क्या आएगा जनसंख्या नियंत्रण पर विधेयक? गौरतलब है कि साल 2018 में एससी, एसटी कानून में सुप्रीम कोर्ट की ओर से बदलाव किए जाने पर देशभर में हिंसक प्रदर्शन हुए थे, जिसके बाद मोदी सरकार ने कानून बनाकर कोर्ट के फैसले को पलट दिया था। बीजेपी नेता अपने बयानों में जिस तरह से जनसंख्या नियंत्रण पर बयानबाजी करते हैं, माना जा रहा है कि जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए विधेयक लाया जा सकता है। राज्यसभा में वित्त मंत्री बजट पर देंगी जवाब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सदन में बजट 2020 पर शाम 4 बजे राज्यसभा जवाब देंगी। इससे पहले यह घोषणा की गई थी कि राज्यसभा में मंगलवार को लंच ब्रेक नहीं होगा। संसद के बजट सत्र का पहला भाग मंगलवार को पूरा होगा। 2 मार्च से अवकाश के बाद संसद फिर से शुरू होगा। इससे पहले लोकसभा में भी भारतीय जनता पार्टी ने अपने सभी सांसदों को सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पर जवाब देंगे। दावा किया जा रहा है कि मंगलवार को बजट पास किया जाएगा, इसलिए व्हिप जारी किया जा रहा है। वहीं जानकारों का कहना है कि बीजेपी कुछ बड़ा फैसला दोनों सदनों में कर सकती है। बीजेपी के व्हिप से बदले हैं कानून! भारतीय जनता पार्टी की ओर से जब भी संसद के दोनों सदनों में व्हिप जारी किया गया है, तब-तब कुछ बड़ा फैसला लिया गया है। चाहे बात जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने की बात हो, नागरिकता कानून(सीएए) लाने की बात हो या तीन तलाक खत्म करने का फैसला हो, बीजेपी जब भी व्हिप लेकर आई है, देश की राजनीति में बड़ा बदलाव हुआ है। राजनीतिक गलियारों में ऐसी चर्चा की जा रही है कि बीजेपी कुछ बड़ा फैसला मंगलवार को कर सकती है। हालांकि बीजेपी की ओर से अभी तक ऐसी कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। बीजेपी इससे पहले भी जब भी कुछ बड़ा फैसला लिया है, पहले उसकी चर्चा पार्टी करने से परहेज करती है। क्या होता है व्हिप? राजनीतिक पार्टियां व्हिप किसी महत्वपूर्ण बिल पर चर्चा, सदन में किसी बिल पर वोटिंग या बहस करने लिए जारी करती हैं। अगर कोई राजनीतिक पार्टी 3 लाइन का व्हिप जारी करती है, तो इसका मतलब होता है कि हर हाल में सदस्यों को सदन में मौजूद रहना होगा। अगर कोई सदस्य व्हिप का उल्लंघन करता है, तो उसकी सदस्यता खत्म की जा सकती है।