अध्यात्मिक गुरु ‘कल्कि भगवान’ के पास मिला 500 करोड़ रु. का काला धन

kalvi baba
अध्यात्मिक गुरु ‘कल्कि भगवान’ के पास मिला 500 करोड़ रु. का काला धन

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने कथित अध्यात्मिक गुरु कल्कि भगवान से जुड़े समूह के 40 ठिकानों पर छापेमारी करते हुए 500 करोड़ रुपये से ज्यादा के काले धन का पता लगाया है। चेन्नै, बेंगलुरु और आंध्र प्रदेश के चित्तूर के साथ-साथ 40 अन्य जगहों पर की गई छापेमारी में आयकर विभाग ने 43.9 करोड़ रुपये, 25 लाख डॉलर और 1271 कैरेट (कीमत लगभग पांच करोड़ रुपये) हीरा बरामद किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक, 500 करोड़ रुपये की अघोषित आय की जानकारी भी सामने आई है।

Spiritual Guru Kalki Bhagwan Income Tax Raid 500 Crore Money :

आयकर विभाग से यहां शुक्रवार को मिली सूचना के अनुसार बीते बुधवार से समूह के चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद और वरदाइपलेम के करीब 40 ठिकानों पर छापे की कार्रवाई चल रही है। इस समूह का संचालक धार्मिक नेता और उनका पुत्र है। यह समूह कई जगह वेलनेस कोर्स चलाता है। जांच से पता चला कि इसके कर्मचारी विभिन्न आश्रमों में जो पैसे वसूलता था, उसे हिसाब किताब में नहीं डालता था और उसका कहीं और निवेश कर दिया जाता था।

प्रारंभिक जांच से पता चला है कि यह फर्जीवाडा वर्ष 2014-15 से ही चल रहा है और अभी तक करीब 409 करोड़ रुपये को इधर-उधर किया जा चुका है। इन ठिकानों से अधिकारियों ने 43.9 करोड़ रुपये की नकदी भी बरामद की है। इसके अलावा आयकर विभाग को कई देशों की मुद्रा भी मिली है, जिसका भारतीय मुद्रा में मूल्य 18 करोड़ रुपये के बराबर है।

इसके अलावा करीब 88 किलो के सोने के आभूषण भी मिले हैं जिसका मूल्य 26 करोड़ रुपये आंका गया है। वहीं 1271 कैरेट हीरे भी मिले हैं जिसका मूल्य करीब पांच करोड़ रुपये आंका गया है। छापे की कार्रवाई अभी भी चल रही है। जांच के दौरान यह भी पता चला है कि इस समूह ने अमेरिका, चीन, सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात समेत कई देशों में निवेश किया है।  

नई दिल्ली। आयकर विभाग ने कथित अध्यात्मिक गुरु कल्कि भगवान से जुड़े समूह के 40 ठिकानों पर छापेमारी करते हुए 500 करोड़ रुपये से ज्यादा के काले धन का पता लगाया है। चेन्नै, बेंगलुरु और आंध्र प्रदेश के चित्तूर के साथ-साथ 40 अन्य जगहों पर की गई छापेमारी में आयकर विभाग ने 43.9 करोड़ रुपये, 25 लाख डॉलर और 1271 कैरेट (कीमत लगभग पांच करोड़ रुपये) हीरा बरामद किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक, 500 करोड़ रुपये की अघोषित आय की जानकारी भी सामने आई है। आयकर विभाग से यहां शुक्रवार को मिली सूचना के अनुसार बीते बुधवार से समूह के चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद और वरदाइपलेम के करीब 40 ठिकानों पर छापे की कार्रवाई चल रही है। इस समूह का संचालक धार्मिक नेता और उनका पुत्र है। यह समूह कई जगह वेलनेस कोर्स चलाता है। जांच से पता चला कि इसके कर्मचारी विभिन्न आश्रमों में जो पैसे वसूलता था, उसे हिसाब किताब में नहीं डालता था और उसका कहीं और निवेश कर दिया जाता था। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि यह फर्जीवाडा वर्ष 2014-15 से ही चल रहा है और अभी तक करीब 409 करोड़ रुपये को इधर-उधर किया जा चुका है। इन ठिकानों से अधिकारियों ने 43.9 करोड़ रुपये की नकदी भी बरामद की है। इसके अलावा आयकर विभाग को कई देशों की मुद्रा भी मिली है, जिसका भारतीय मुद्रा में मूल्य 18 करोड़ रुपये के बराबर है। इसके अलावा करीब 88 किलो के सोने के आभूषण भी मिले हैं जिसका मूल्य 26 करोड़ रुपये आंका गया है। वहीं 1271 कैरेट हीरे भी मिले हैं जिसका मूल्य करीब पांच करोड़ रुपये आंका गया है। छापे की कार्रवाई अभी भी चल रही है। जांच के दौरान यह भी पता चला है कि इस समूह ने अमेरिका, चीन, सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात समेत कई देशों में निवेश किया है।